दूसरों पर ही नहीं अपने आप पर भी हंसें – शिक्षाप्रद कहानी

आदमी और उसका विग

image source www.fitafterfifty.com

एक बार एक घुड़सवार किसी कस्बे से होकर गुजर रहा था। उसने हैट पहन रखा था और हैट में लगे बालों की विग उसके गंजे सिर की शोभा बढ़ा रही थी। वह बड़े मजे में अपने घोड़े पर बैठा चला जा रहा था, तभी हवा का एक झोंका उसका हैट और साथ ही नकली बालों की विग उड़ाकर ले गया।

दूसरों पर ही नहीं अपने आप पर भी हंसें

अब उसका गंजा सिर कस्बे के सभी लोगों के सामने दिखाई देने लगा। लोग ठहाका मार-मार कर हंसने लगे।

”अरे यह देखो!“ भीड़ में से कोई कहने लगा- ”अभी कुछ देर पहले यह व्यक्ति युवा था। इसके सिर पर बाल थे, मगर अब देखो कितनी जल्दी यह बूढ़ा हो गया। इसके सिर के बालों का कोई पता नहीं। क्या अद्भुत नजारा है।“

मगर यह सब सुनकर भी वह व्यक्ति न ही विचलित हुआ और न ही क्रोधित। वह शांत रहा और अपने ऊपर हंसने वालों के साथ-साथ हंसता रहा। फिर बोला- ”देखो मित्रों, हवा के एक झोंके से कितनी जल्दी आदमी को अक्ल आ जाती है। मगर यह तभी होता है, जब व्यक्ति अक्लमंद बनने योग्य हो।“

इतना कहकर वह अपने ऊपर हंसने वाले उन सभी लोगों से अधिक जोर से हंसा।

शिक्षा –  दूसरों पर ही नहीं अपने आप पर भी हंसें।