Kis Kis Vyakti Ko Hai Navratri Ke Vrat Rakhne Ki Manahi?

वैसे तो उपवासरखना सेहत के लिहाज से भी अच्छा है लेकिन नवरात्रि के व्रत 8 दिन के होते हैं इसलिए बहुत सोच विचार करने के बाद ही नवरात्रि व्रत रखने चाहिए।

आज हम आपको बताते हैं किन किन लोगों को नवरात्रि के व्रत नहीं रखने चाहिए।

कुछ लोग तमाम तरह की बीमारियों से ग्रसित होते हैं तो कुछ बेहद कमजोर होते हैं. ऐसे लोगों को डॉक्टर की सलाह पर ही फास्टिंग करनी चाहिए.Kis Kis Vyakti Ko Hai Navratri Ke Vrat Rakhne Ki Manahi

गर्भवती महिला को अपनी हेल्थ को ध्यान में रखकर ही व्रत करने चाहिए अन्यथा वे उपवास ना रखें. गर्भावस्था में बहुत सावधानियों की जरूरत होती है. चाहे तो अपनी डॉक्टर से सलाह लें.

डायबिटीज के रोगियों को उपवास करने से बचना चाहिए. यदि वे उपवास रख रहे हैं तो नवरात्र स्पेशल अपना डायट चार्ट बनाएं और ध्‍यान रखें कि आपकी डायट में शु्गर और साल्‍ट की मात्रा बहुत ज्या‍दा ना हो. साथ ही आलू, मीठे फल और खाद्य पदार्थ से परहेज करें.

मधुमेह के रोगियों को हर दो घंटे में कुछ ना कुछ खाते रहना चाहिए तो उपवास बिल्कुल खाली पेट ना करें. अधिक देर भूखा रहने से शरीर में ग्‍लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है जिससे परेशानियां होने लगती हैं.

यदि किसी की सर्जरी हुई है या फिर दवाईयां चल रही हैं तो ऐसे लोगों को भी उपवास से बचना चाहिए. यदि ये लोग उपवास कर रहे हैं तो डॉक्टर से कंसल्ट कर लें. साथ ही दवाएं उपवास के दौरान दवाएं खाना बंद ना करें.

यह भी पढ़िए  वशीकरण विद्या - वह चमत्कारिक उपाय जिससे आपके दुश्मन भी हो जाएंगे आपके बस में

हिंदी वार्ता से जुडें फेसबुक पर-अभी लाइक करें

 
रेहान अहमद
मित्रों मेरा नाम रेहान अहमद है और मैं आप सभी के लिए भिन्न भिन्न प्रकार के निबंध लिखता हूँ! हिंदी साहित्य में अत्यधिक रूचि है जिसे हिन्दीवार्ता के माध्यम से उभार रहा हूँ! आशा है आप सभी को मेरे लेख पसंद आएँगे. किसी प्रकार की त्रुटि या सुझाव के लिए कमेंट करें या मुझसे फेसबुक पर संपर्क करें. धन्यवाद!