मानस पटल – हिंदी काव्य संग्रह

गत वर्ष अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर मेरा अंग्रेज़ी काव्य संग्रह जब प्रकाशित हुआ तो कई पाठकों ने हिंदी कविता संग्रह के लिए आग्रह किया था। अब इसे विधि का विधान कहें की मेरे आलस्य की चरम सीमा, हिंदी संग्रह मानस पटल लगभग एक वर्ष पश्चात पुनः अंतर्रष्ट्रिय महिला दिवस के अवसर पर आपके सम्मुख प्रस्तुत कर रही हूँ ।

भारत और भारतीयों को समर्पित ये हिंदी कविताएँ, एक आम नागरिक के मन की बात जैसी हैं।राजनीति, राष्ट्रवाद,संस्कृति तथा सनातन जैसे विषयों पर एक संवेदनशील टिप्पणी करती ये कविताएँ किसी भी आयु, वर्ग एवं प्रांत के भारतीय को अवश्य भाएँगीं। यह कविता संग्रह मेरे पहले अंग्रेज़ी कविता संग्रह से केवल भाषा में ही नहीं, अपितु शैली और विषय में भी भिन्न है। जो पाठक आज भी कविता में अर्थ पाने की इच्छा रखते हैं, यह कविताएँ उनके लिए ही हैं।

आशा है की आप इसे सराहेंगे।आपकी प्रतिक्रिया की प्रतिक्षर्थी।

डिम्पल (ट्विटर: @DimpleAtra)