Advertisement

अफ़सोस:दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटी की लिस्ट में भारत का नाम नहीं

दिल्ली.दुनिया की टॉप युनिवर्सिटी में भारत का नाम नहीं है.इससे ये ज़ाहिर होता है कि भारत शिक्षा की कौनसी पायदान पर खड़ा है.टाइम्स हायर एजुकेशन ने विषय के आधार पर वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2018 की घोषणा की है. इस रैंकिंग में इंजीनियरिंग और टैक्नोलॉजी, कम्प्यूटर साइंस के आधार पर जारी की गई है.

Advertisement

इस बार रैंकिंग में एशिया के विश्वविद्यालयों का दबदबा रहा है. रैंकिंग में एशिया के 132 संस्थानों ने जगह हासिल की है और टॉप 10 में भी एशिया की यूनिवर्सिटी के नाम शामिल है.दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटी में भारत के विश्वविद्यालय भी जगह बनाने में कामयाब हुए हैं.

भारत की एक यूनिवर्सिटी ने टॉप 100 में जगह जबकि अन्य विश्वविद्यालयों ने टॉप 500 में जगह बनाई है. दुनिया की टॉप रैंकिंग में स्टैंनफोर्ड यूनिवर्सिटी (यूएस), कैलीफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टैक्नोलॉजी और यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफॉर्ड (यूके) का नाम सबसे ऊपर है.

Advertisement

बता दें कि यह रैंकिंग कई आकलनों का आधार पर जारी की गई है. यह एकेडमिक रेप्युटेशन, एम्प्लॉयर रेप्युटेशन, फैकल्टी, स्टॉफ, पेपर आदि चीजों को ध्यान में रखकर जारी की जाती है.

टाइम्स हायर एजुकेशन की इस रैंकिंग में इंजीनियरिंग कैटेगरी में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएस), बैंगलोर ने टॉप 100 में जगह बनाई है और आईआईएस ने 89वीं रैंक पर कब्जा किया है.वहीं आईआईटी कानपुर को वर्ल्ड रैंकिंग में इसे 201-250 के बैंड में रखा गया है.

Advertisement

इस बार टॉप 100 में किसी भी आईआईटी को जगह नहीं मिली है.वहीं क्‍वाकरली सायमंस (क्यूएस) एशिया यूनिवर्सिटी की एशिया रैंकिंग में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी बॉम्‍बे (आईआईटी बॉम्बे), इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी दिल्ली (आईआईटी दिल्ली) और आईआईटी मद्रास ने जगह हासिल की है.

Advertisement