एनटीपीसी प्लांट में मरने वालों की संख्या बढ़कर 22 हो गई है,अधिकांश की हालत बहुत नाज़ुक…

Advertisement

उत्तर प्रदेश के रायबरेली के उंचाहार,एनटीपीसी प्लांट में बॉयलर फटने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 22 हो गई है.इस घटना में 57 लोग घायल हुए है,जिन्हें अलग अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.

NTPC Boilerएक प्रत्यदर्शी के अनुसार घटना के वक़्त एनटीपीसी प्लांट में बॉयलर का एक पाइप फट गया था,जिसकी वजह से बड़ी मात्रा में गैस और राख बाहर निकला और इसी से जलने से लोग घायल हुए हैं.

Advertisement

वहां क़रीब साढ़े पांच सौ लोग काम कर रहे थे.मरने वालों की तादाद 20 पहुँची घटना के तुरंत बाद प्लांट में किसी को जाने की इजाज़त नहीं दी गई.

Advertisement

घटनास्थल पर जब रायबरेली के ज़िलाधिकारी और एसपी आए.तब मीडिया कर्मियों को इजाज़त मिली प्लांट मे जाने की.प्रत्यक्षदर्शी के अनुसार जिस समय बॉयलर का ट्यूब फटा,उसके आधे घंटे तक केवल धुआं और धुंध ही छाया रहा.घटना स्थल पर धुएं के अलावा और कुछ नहीं दिख रहा था.

ये हादसा 3.20 पर हुआ हादसा जिस समय हुआ.उस दौरान कुल 570 लोग काम कर रहे थे.घायल हुए लोगो मे ठेके के कर्मचारी ज़्यादय थे, इनमें एनटीपीसी के केवल दो या तीन कर्मचारी घायल हुए हैं.

Advertisement
Pulse Oximeter in Hindi corona virus

बाहर से एम्बुलेंस घटना के क़रीब एक घंटे बाद पहुंची.घटना के समय कोई एम्बुलेंस मौजूद नहीं थी.घटना के तुरंत बाद  सबसे पहले बिजली बंद कर दी गई थी.

Advertisement

सुरक्षा बल के आते ही घटना स्थल में राहत और बचाव का काम शुरू हो गया था उसके बाद किसी को अंदर जाने नहीं दिया गया.

घटनायस्थल पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शी के अनुसार “हादसे की शाम तक एनटीपीसी अस्पताल मरीज़ों से भरा हुआ था. जबकि सुबह तक यहां सिर्फ एक मरीज़ भर्ती दिखाया जा रहा है.”

जिस समय हादसा हुआ तभी बहुत सारे लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी जबकि बहुत सारे लोग वहां से बच कर निकलने की कोशिश कर रहे थे.कुछ लोगो को उनके परिजन नहीं मिल रहे थे सारी ग़लती एनटीपीसी कर्मचारियों की बताई जा है.

रायबरेली के ज़िलाधिकारी संजय खत्री के अनुसार घटनास्थल पर बचाव और राहत के लिए पहुंची एनडीआरएफ़ की टीम ने अपना काम ख़त्म कर लिया है. उन्हें कोई और मृतक नहीं मिला.

हादसे में मारे जाने वालों की संख्या 20 है, जबकि घायलों में 12 लोगों को छोड़कर बाकी सभी को लखनऊ के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.

घायलों को सबसे पहले एनटीपीसी के अस्पताल में भर्ती कराया गया है.अधिकांश की हालत बहुत नाज़ुक है और उनमें से कई लोगों को लखनऊ के अस्पतालों में रेफ़र कर दिया गया है.

एनटीपीसी के अस्पताल में शवों को रखा गया था, जिनका पोस्टमार्टम होना है.सुबह तक रायबरेली के अस्पतालों से अधिकांश घायलों को लखनऊ भेज दिया गया और उनके परिजनों को हटा दिया गया है.

सुबह मृतकों और घायलों के परिजन एनटीपीसी गेट के सामने इकट्ठे होकर हंगामा शुरू कर दिया.घायलों और उनके परिजनों से मिलने के लिए राहुल गांधी भी रायबरेली पहुंच चुके हैं.

Advertisement