गीता के माता पिता को ढूंढ़ने वाले को मिलेगा 1 लाख रुपया-सुषमा स्वराज

Advertisement

नई दिल्ली.सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान से अपने माता-पिता की तलाश में एक दशक से अधिक समय बाद स्वदेश लौटी मूक-बधिर गीता के मां बाप को खोजने में मदद की कवायद करते हुए उन्होंने एक लाख के इनाम की घोषणा की है.

सुषमा स्वराज ने एक विडियो संदेश जारी किया है। जिसमें गीता भी उनके साथ खड़ी है। विडियो में उन्होंने कहा, ‘आज मैं अपने देशवासियों के सामने बहुत भारी मन से अपील कर रही हूं.मेरे साथ गीता खड़ी है यह न बोल सकती है न सुन सकती है.

Advertisement

सबसे पहले अपील उन्होंने गीता के माता-पिता से की है. उन्होंने कहा, ‘कृपया सामने आइए और बेटी को अपनाइए. हम इसे आप पर बोझ नहीं बनने देंगे. शादी और पढ़ाई का खर्च हम उठाएंगे. आगे आइए और इसे गले लगाइए.’

बता दें कि 2 साल पहले विदेश मंत्रालय को यह जानकारी मिली थी कि कोई 10-12 साल पहले भारत की एक बेटी पाकिस्तान पहुंच गई है जहां ईदी फाउंडेशन उसकी देखभाल कर रहा है.

Advertisement
youtube shorts kya hai

जानकारी मिलने के बाद 8 से 10 जोड़ों ने उसके अपनी बेटी होने का दावा किया, जिसमें एक जोड़े की तस्वीर पाकिस्तान भेजी गई जिसे देखकर उसने उसके माता-पिता होने की बात कही थी. गीता फिलहाल इंदौर के एक संस्था में रह रही है जहां उसे सांकेतिक भाषा और सिलाई-कढ़ाई का काम सिखाया गया है.

हाल ही में गीता ने मूक-बधिर संस्था में मन नहीं लगने के कारण विवाह करने की इच्छा जाहिर की थी. जिसके बाद गीता को इंदौर से भोपाल लाया गया. इस दौरान इशारों से गीता ने कहा कि वह कभी पाकिस्तान वापस नहीं जाना चाहती. मैं भारतीय हूं और महात्मा गांधी के राष्ट्र से संबंध रखती हूं.

इंदौर स्थित मूक-बधिर संस्था के अध्यक्ष मुरलीधरन धमानी ने बताया कि पाकिस्तान में गीता का अच्छा ख्याल रखा गया था. लेकिन उसे पढ़ाया नहीं गया.जिस दौरान वो भारत आई थी तब मुश्किल से अपना नाम लिख पाती थी.

Advertisement