छोटे कारोबारियों की बिगड़ी दिवाली,लोगों के पास कैश की कमी का असर दिखा रिटेल मार्किट पर

Advertisement

नई दिल्ली.कारोबारियों के मुताबिक इस साल दिवाली पर सेल बीते साल की तुलना में 30 फीसद तक कम हुई है. कस्टमर के पास ई-कॉमर्स कंपनियों के डिस्काउंट ऑफर, कैश की कमी और ज्यादा टैक्स रेट की सीधा असर सेल पर पड़ा. कारोबारियों के मुताबिक इस साल कस्टमर बाजारों में खरीदारी के लिए कम आएं हैं.

कस्टमर के पास कैश की कमी और ई-कॉमर्स कंपनियों के डिस्काउंट सेल ऑफर्स का निगेटिव असर कारोबार पर सबसे ज्यादा पड़ा.

Advertisement

रिटेल में कन्ज्यूमर ड्यूरेबल, एफएमसीजी प्रोडक्ट, इलेक्ट्रॉनिक्स, किचन ऐप्लायंस और एक्सेसरी, लगेज, घड़ियां, गिफ्ट आइटम, मिठाई, ड्राई फ्रूट्स, होम डेकोर, लाइट और फिटिंग्स, घड़ियां, रेडीमेड गारमेंट्स, डेकोरेशन आइटम, फर्निशिंग और फैबिरक की सेल पर सबसे ज्यादा असर पड़ा.

Advertisement

कुछ प्रोडक्ट पर 28 फीसद जीएसटी से कस्टमर और ट्रेडर्स दोनों परेशान रहे क्योंकि कोई भी प्रोडक्ट की कीमत का वन थर्ड से ज्यादा टैक्स देने को तैयार नहीं था. ई-कॉमर्स पोर्टल के हैवी डिस्काउंट ऑफर और बिग बिलियन सेल ने ऑफलाइन बिजनेस को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाया है.

इस बार सेल पिछली दिवाली की तुलना में 30 फीसद तक कम रही है। ट्रेडर्स को अपने स्टॉक को लेकर चिंता हो रही है क्योंकि उनका फेस्टिवल के लिए खरीदा गया स्टॉक 50 फीसद तक बचा हुआ है.ऑनलाइन शॉपिंग और GST का सीधा असर दिवाली पर रिटेल सेक्टर की सेल पर पड़ा है.

Advertisement
Pulse Oximeter in Hindi corona virus

फेस्टिव सीजन खत्म होने को है और इसका सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है रिटेलर्स को. ऑनलाइन शॉपिंग और GST ने रिटेलर्स की कमर तोड़ दी है. कारोबारियों के मुताबिक इस साल दिवाली पर बीते साल की तुलना में 30 फीसद सेल कम हुई है.

Advertisement

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ऑफलाइन रिटेलर्स के पास कैश की कमी और ई-कॉमर्स कंपनियों के डिस्काउंट सेल ऑफर्स का निगेटिव असर कारोबार पर सबसे ज्यादा पड़ा. एक महीने में कारोबारियों का 30 से 40 फीसद कारोबार होता है. जो इस साल काफी कम रहा, इससे कारोबारियों और स्टॉकिस्ट को बड़ा नुकसान हुआ.

 

 

Advertisement