दीवाली बाद कभी भी हो सकती है राहुल गांधी की ताजपोशी

Advertisement

नई दिल्‍ली। राहुल गांधी दीवाली के बाद कभी भी कांग्रेस अध्‍यक्ष का पद संभाल सकते हैं। वैसे इस बात के कयास लंबे समय से लगाए जा रहे हैं, लेकिन इस बार राहुल की ताजपोशी के बारे में मीडिया ने नहीं बल्कि कांग्रेस उपाध्‍यक्ष के बेहद करीबी माने जाने वाले सचिन पायलट ने दावा किया है।

राजस्‍थान कांग्रेस के अध्‍यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि अब समय आ गया है जब राहुल अब सामने से नेतृत्व करें। एक इंटरव्‍यू में सचिन पायलट ने कहा, ‘कांग्रेस में संगठन के चुनाव चल रहे हैं। दिवाली के बाद जल्द ही नया अध्यक्ष चुन लिया जाएगा। यह चुनाव लंबे अर्से से पाइपलाइन में है।’

Advertisement

सचिन पायलट ने इस इंटरव्‍यू में बीजेपी पर भी निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि बीजेपी को अपने भीतर झांकना चाहिए। उनके भी कई नेता पॉलिटिकल फैमिली से आते हैं। उन्‍होंने आगे कहा, ‘मैं वंशवाद की राजनीति का समर्थन नहीं करता और न इसका विरोधी हूं।

राजस्थान कांग्रेस के प्रमुख सचिन पायलट ने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी दिवाली के बाद पार्टी प्रमुख की कमान संभाल सकते हैं। इसकी योजना काफी समय से चल रही है।

पायलट ने कहा, ‘पार्टी में आम भावना यही है कि राहुल गांधी कमान संभालें। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने खुद पिछले माह कहा था कि वह कांग्रेस नेतृत्व का उत्तरदायित्व संभालने के लिए तैयार हैं।’

कांग्रेस में बुजुर्ग पीढ़ी को युवाओं को रास्ता देने के बारे में सवाल करने पर उन्होंने कहा, वैसे तो यह एक स्वाभाविक क्रम है। बात मौका देने की नहीं सबको साथ लेकर चलने की है।

गौरतलब है कि राहुल गांधी ने पिछले माह अमेरिका यात्रा के दौरान कहा था कि वह कांग्रेस का नेतृत्व संभालने के लिए तैयार हैं। सचिन पायलट ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्री के लिए आयु मापदंड पर चुटकी लेते हुए कहा, ‘राजनीति में मापदंड चयन के लिए नहीं बल्कि लोगों को हटाने के लिए बनाए जाते हैं।

हमें पुरानी पीढ़ी के अनुभवों का पूरा लाभ उठाना चाहिए।’ उन्होंने कहा, हम भाजपा की तरह मार्गदर्शक मंडल बनाने में विश्वास नहीं करते। भाजपा के मार्गदर्शक मंडल से बढ़कर कोई मजाक नहीं हो सकता। इसकी मिसालें लालकृष्ण आडवाणी,मुरली मनोहर जोशी और यशवंत सिन्हा हैं.

Advertisement