नीतीश घोटाले से बचने के लिए भाजपा की शरण में गए

लालू का आरोप

 

रांची.नीतीश घोटाले से बचने के लिए भाजपा की शरण में गए भागलपुर में सृजन एनजीओ घोटाला सामने आने के बाद अब भ्रष्टाचार के मुद्दे पर तेजस्वी, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बीजेपी को घेर रहे हैं। सृजन घोटाले की जांच में अब तक 600 करोड़ रुपए के घोटाले की बात सामने आई हैं, जबकि आरजेडी का दावा है कि घोटाला 2500 करोड़ का है। लालू ने रांची में नीतीश पर आरोप लगाते हुए कहा, ‘नीतीश कुमार इस घोटाले से बचने के लिए बीजेपी की शरण में गए हैं।
क्या है सृजन घोटाला?
दरअसल बिहार के भागलपुर जिले में एक सृजन नाम का एनजीओ है. जिसे साल 1996 में महिलाओं को काम देने के मकसद से शुरु किया गया था। तीन अगस्त को 10 करोड़ के एक सरकारी चेक के बाउंस होने के बाद इस एनडीओ में घोटाला होने का मामला सामने आया। छानबीन में पता चला चला कि जिलाधिकारी के फर्जी हस्ताक्षर से बैंक से सरकारी पैसा निकाल कर एनजीओ के खाते में डाला गया। मामला सामने आते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आनन-फ़ानन में पुलिस हरकत में आई। पुलिस ने एसआईटी का गठन करके इस मामले से जुड़े लोगों के घर और सृजन एनजीओ के ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। इस मामले में अभी तक सात एफआईआर दर्ज हुई हैं, जिनके आधार पर 10 लोगों की गिरफ़्तारी हो चुकी है।