महाहमंथन: अमित शाह ने कहा वंशवाद देश नहीं काग्रेस की संस्कृति है

नयी दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक आज दिल्ली में शुरू हो गयी. बैठक के पहले दिन भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कार्यकारिणी को संबोधित किया.

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि वंशवाद देश नहीं काग्रेस की संस्कृति है. केरल और बंगाल में हमें प्रतिरोध का सामना करना पड़ा है. हमारे कार्यकर्ताओं पर हमले किये जा रहे हैं. हिंसा का कीचड़ कोई कितना भी फैलाए, भाजपा का कमल उतना ही ज़्यादा निखर के आएगा.

अमित शाह ने अपने संबोधन में राहुल गांधी पर निशाना साधा है. शाह ने कहा कि जिस प्रकार राहुल गांधी ने वंशवाद को अनिवार्य बताया. वह बिलकुल गलत है. कांग्रेस राज में भ्रष्टाचार फैला हुआ था। राहुल गांधी बाहर जाकर देश की छवि खराब कर रहे हैं.

शाह ने दावा किया कि 2019 लोकसभा चुनाव में एनडीए की पहले से बड़ी जीत होगी. उन्होंने भ्रष्टाचार, गंदगी, जातिवाद मुक्त भारत का संकल्प लेते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई में केंद्र सरकार के कामकाज की तारीफ की.

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने उनके भाषण को मीडिया के सामने रखते हुए बताया कि अमित शाह ने पश्चिम बंगाल और केरल में राजनीतिक हिंसा की निंदा की है. साथ ही यह भी ऐलान किया कि हिंसा के खिलाफ 3 से 17 अक्टूबर तक बीजेपी केरल में पदयात्रा करेगी.

शाह ने कहा कि भाजपा ‘पॉलिटिक्स ऑफ पॉरफर्मेंस’ में लगी हुई. राजनीति ऐसी हो कि जनता की आकांक्षाओं पर खरा उतरे. भारतीय जनता पार्टी विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बन चुकी है. भारत का हर नागरिक चाहता है कि देश गंदगी, गरीबी, तुष्टीकरण की राजनीति आदि से मुक्त हो.

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक में सभी सांसदों, विधायकों, विधान परिषद सदस्यों और प्रदेश इकाइयों के अध्यक्षों समेत 2000 नेताओं को शामिल होने के लिए बुलाया गया है.

बैठक में चुनाव की रणनीति के अलावा रोहिंग्याओं मुसलमानों, जीएसटी, नोटबंदी पर चर्चा होगी. बैठक में 14 मुख्यमंत्री भी मौजूद है.