यूट्यूब के असली ‘सीक्रेट सुपरस्टार्स’

Advertisement

हाल ही मे रिलीज़ हुई फ़िल्म ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ एक ऐसी लड़की की कहानी है जो कई रुकावटों के बावजूद अपनी आवाज़ को पहचान देती है. इस में उसका सहारा बनता है ‘यू टूयूब …’

फिल्म ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ में भ्रूण हत्या, घरेलू हिंसा, एक लड़की की हिम्मत और अपने दम पर कुछ बनने की चाहत जैसे कई पहलु हैं, जिसे हम पहले भी कई बार देख चुके हैं.

Advertisement

मगर इस बार खास ये है कि बड़ी ही सुंदरता से इन सभी पहलुओं को फिल्म में छुआ गया है. यू टूयूब पर डाले गए गाने के ज़रिये इस लड़की के हुनर को एक नए पहचान मिलती है ‘ये ज़रूरी नहीं की हर बुर्के वाली लड़कियाँ दबाव में हों.

Advertisement

ये फिल्म में तो एक कहानी है लेकिन असल जिंदगी में भी ऐसे कई लोग जिन्होंने यूट्यूब को अपनी सफलता का माध्यम बनाया है.उन्होंने संगीत की इस विशाल दुनिया में अपने हुनर को सामने लाने के लिए एक नया ज़रिया अपनाया और कामयाबी भी हासिल की.

अगर बात करे विद्या अय्यर,की तो विद्या ने यू टूयूब के ज़रिये ही कामयाबी हासिल की | विद्या का जन्म चेन्नई में हुआ है और वो अमेरिका का में पली-बढ़ी हैं. उन्होंने कर्नाटक शास्त्रीय संगीत में प्रशिक्षण प्राप्त किया है.

Advertisement
Pulse Oximeter in Hindi corona virus

विद्या भारतीय मूल की गायिका है और वह कुछ ही सालों में यूट्यूब सेन्सेशन बन चुकी है.शुरुआत में बैंड ‘शंकर टकर’ के साथ परफॉर्म करने वाली विद्या ने साल 2015 में ‘विद्या वॉक्स’ नाम से अपना यूट्यूब चैनल शुरू किया था.

Advertisement

अब तक उनके चैनल के 3 लाख 58 हज़ार सब्सक्राइबर्स बन चुकेहैं. उनका मेशअप ‘क्लोज़र/कबीरा’ काफी लोकिप्रिय हुआ था और उसे सात महीनों में करीब 5 करोड़ व्यूज़ मिले.

इसी तरह श्रद्धा शर्मा देहरादून की रहने वाली हैं और उन्होंने भी अपने गाने के वीडियो यूट्यूब पर डालने शुरू किए थे.महज़ 15 साल की उम्र में अप्रैल 2011 में उन्होंने अपना पहला यूट्यूब वीडियो पोस्ट किया था.

जिसमें उन्होंने ‘मैं तेनु समझावां नी’ गाया था.लेकिन, श्रद्धा को सफलता मिली उनके चौथे वीडियो से जो उन्होंने 16 अगस्त 2011 को पोस्ट किया था.श्रद्धा शर्मा का अपना एक यूट्यूब चैनल भी है ‘श्रद्धारॉकइन’, जिसके 2 लाख 32 हजार सब्सक्राइबर्स हैं.

जॉनिता गांधी एक भारतीय-कनाडाई गायिका हैं. वह कई भाषाओं में गाती हैं.जॉनिता की लोकप्रियता की शुरुआत भी यूट्यूब से ही हुई थी. जॉनिता को सफलता मिली जनवरी 2012 में आए उनके एक गाने ‘पानी दा रंग’ से, जिसे दुनियाभर में 46 लाख लोगों ने देखा था.

जॉनिता बॉलिवुड में भी एंट्री कर चुकी हैं. उन्होंने ‘चेन्नई एक्सप्रेस’ फ़िल्म का टाइटल सॉन्ग गया है. वह ‘हाइवे’ फ़िल्म में ‘कहां हूं मैं’ गाने में भी अपनी आवाज़ दे चुकी हैं.

सिद्धार्थ सलाथिया ने इंजीनियरिंग का करियर छोड़कर संगीत को अपनी पसंद बनाया. जम्मू के रहने वाल सिद्धार्थ सलाथिया का पहला गाना साल 2009 में सोशल मीडिया पर आया था.

यूट्यूब पर उनके गाने ‘चन्ना मेरेया’ को बहुत अच्छे व्यूज़ मिले थे, जो 6 नवंबर 2016 में डाला गया था. इस वीडियो को अब तक करीब 20 लाख लोग देख चुके हैं.सिद्धार्थ सलाथिया का अपना यूट्यूब चैनल है जिसके करीब 4 लाख 99 हजार स​ब्सक्राइबर्स हैं.

Advertisement