यूपी से मुगलों का इतिहास हम ख़त्म कर देंगें:संगीत सोम

Advertisement

…तो लाल क़िले से मोदी जी का सम्बोधन भी बंद करवा दें: ओवैसी

मेरठ.मेरठ के सरधना से विधायक संगीत सोम ने एक आयोजन में खुले तौर पर कहा कि योगी सरकार मुग़लों का यूपी से नामो निशान मिटाने के लिए संकल्पबद्ध है.इस कड़ी में ताज महल भी शामिल है.

सोम के बयान देने के बाद राजनीति गरमा गई है. पलटवार करते हुए एआईएमआईएम के प्रमुख असुदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि अगर मुगलों से इतनी नफरत है तो 15 अगस्त को मोदी जी लाल क़िले से क्यों राष्ट्र के नाम हर साल सन्देश देते हैं उसे बंद करवा दें.

Advertisement

मुगल कालीन शासकों के इतिहास को देश के लिए कलंक बताते हुए मेरठ में आयोजित एक जनसभा के दौरान विधायक संगीत सोम ने कहा कि इतिहास से मुगलकालीन शासकों को निकालकर अब यूपी में हिंदुओं के इतिहास को पढ़ाया जाएगा.

यूपी सरकार अकबर और बाबर औरंगजेब जैसे कलंक कथा लिखने वाले बादशाहों को इतिहास से निकालने की तैयारी कर रही है.संबोधन के दौरान उन्होंने मुगलकालीन बादशाहों को अत्याचारी बताते हुए कहा कि भारत के इतिहास में दर्ज उनके अत्याचारों में विश्वप्रसिद्ध ताजमहल भी शामिल है.

Advertisement
youtube shorts kya hai

गौरतलब है दुनिया के 7 अजूबों में शामिल शाहजहां निर्मित ताज महल को यूपी की योगी सरकार ने टूरिज्म लिस्ट से बाहर कर दिया है, जिसके बाद काफी हो-हल्ला मचा और योगी सरकार के उक्त कदम की कड़ी आलोचना भी की गई.

एआईएमआईएम के प्रमुख असुदुद्दीन ओवैसी ने पलवार किया है. उन्होने कहा है कि गद्दारों ने ही लाल किले को बनाया था तो क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वहां तिरंगा फहराना बंद कर देंगे.

इतना ही नहीं उन्होंने आगे कहा कि अब क्या मोदी और यूपी सीएम योगी देशी और विदेशी पर्यटको को ताजमहल जाने से रोक देंगे. ओवैसी यही नहीं थमें आगे उन्होंने हैदराबाद हाउस का जिक्र किया और कहा कि यहा तक की वह भी गद्दारों द्वारा ही बनाया गया था क्या अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विदेशी दिग्गजों की मेजबानी करना रोकेंगे.

Advertisement