रक्षा मंत्री ने डोकलाम नाथुला क्षेत्र का किया हवाई सर्वेक्षण

गंगटोक.रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज चीन भारत सीमा पर डोकलाम नाथुला क्षेत्र का हवाई सर्वेक्षण किया. सरकार ने कहा था कि 28 अगस्त को दोनों देशों के सैनिकों के हटने के बाद डोकलाम में यथास्थिति नहीं बदली है.

सिक्किम सरकार के अधिकारियों ने बताया कि रक्षा मंत्री ने पूर्वी सिक्कम के नए पाकयोंग हवाई अड्डे और उसके आसपास के क्षेत्रों का भी हवाई सर्वेक्षण किया। सीतारमण आज अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम की एक दिन की यात्रा पर हैं.

उनके हवाई सर्वेक्षण से पहले विदेश मंत्रालय ने कहा था कि डोकलाम में जिस जगह पर भारत और चीन की सेना के बीच गतिरोध था वहां और उसके आसपास के क्षेत्रों में 28 अगस्त को दोनों देशों के सैनिकों के पीछे हटने के बाद कोई नया घटनाक्रम नहीं है.

यह बयान इन खबरों के बीच आया कि चीन डोकलाम गतिरोध स्थल के समीप बड़ी संख्या में सैनिकों का जमावड़ा बनाए हुए है और उसने इस गतिरोध स्थल से करीब 12 किलोमीटर पहले वर्तमान सड़क को चौड़ा बनाने का भी काम शुरु कर दिया है.

विदेश मंत्रालय ने बयान में कल कहा था, हमने डोकलाम पर हाल की खबरें देखी है, इस क्षेत्र में यथास्थिति बनी हुई है. इसके विपरीत कोई भी बात सही नहीं है.अधिकारियों ने बताया कि सीतारमण का सिक्किम के राज्यपाल श्रीनिवास पाटिल एवं मुख्यमंत्री पवन चामलिंग से मिलने का कार्यक्रम है.

वे चीन से सटे सीमावर्ती क्षेत्रों में रक्षा से जुड़े मुद्दों पर चर्चा कर सकते हैं.रक्षा मंत्री बनने के बाद उनका यह पहला सिक्किम दौरा है. हालांकि खराब मौसम के चलते वह डोकलाम व नाथुला का हवाई सर्वेक्षण नहीं कर पायीं. वह सिक्किम के राज्यपाल और मुख्यमंत्री से भी मुलाकात नहीं कर सकीं.

रक्षा मंत्री के कार्यक्रम में मौसम में खराबी के चलते हुए परिवर्तन के कारण प्रदेश के राज्यपाल व मुख्यमंत्री भी तय समय पर मुलाकात नहीं कर सके. केंद्रीय मंत्री ने सेना के छावनी निवास पर ही सेना के उच्चाधिकारियों के साथ सीमा रक्षा संबंधी बैठक की.