राहुल के अमेठी दौरे को प्रशासन ने दी इजाज़त,4 से शुरू होगा दौरा

अमेठी. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी में उनके प्रस्तावित दौरे को अब जिला प्रशासन ने हरी झंडी दे दी है। अमेठी में राहुल गांधी का दौरा 4 अक्टूबर से 6 अक्टूबर तक प्रस्तावित था।

इस से पहले राहुल के दौरे को लेकर जिला कांग्रेस और प्रशासन के बीच विवाद हुआ था. दौरे के लिए अमेठी जिला कांग्रेस ने जिला प्रशासन से मंजूरी मांगी थी लेकिन जिला प्रशासन ने इंकार कर दिया था.जिलाधिकारी ने इस बाबत जिला कांग्रेस कमेटी को पत्र भी भेजा था.इसके बाद भी जिला कांग्रेस कमेटी राहुल गांधी के दौरे को लेकर तैयारी कर रही थी.

डीएम का बहाना था कि अमेठी जिले में दुर्गा की मूर्ति विसर्जन दशहरे के पांचवें दिन करने की प्रथा है. इसी कारण यहां पर पांच व छह अक्टूबर को मूर्ति विसर्जन होना है. जिले में 896 मूर्तियों का विसर्जन होना है. ऐसे में जिला प्रशासन और पुलिस पर सुरक्षा का बहुत दबाव है.

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता अखिलेश प्रताप ने कहा था कि दशहरा और मोहर्रम खत्म हो गया है. ऐसे में साफ है कि अमित शाह के दौरे से पहले योगी आदित्यनाथ की प्रदेश सरकार राहुल को अमेठी नहीं जाने देना चाहती.

प्रशासन का ये भी बहाना था कि जिले की कुछ फोर्स दूसरे जिले में भी भेजी गई है। जिससे जिले में फोर्स कम है. ऐसे में अगर राहुल गांधी आएंगें तो उन्हें सुरक्षा दिया जाना संभव नहीं होगा.

वहीं कांग्रेस ने कहा था कि प्रशासन की ये साजिश है. कांग्रेस प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह का कहना था कि भाजपा तो राहुल गांधी से घबराती है. प्रदेश की भाजपा सरकार नहीं चाहती कि अमित शाह के दौरे से पहले राहुल गांधी यूपी आकर अपने संसदीय क्षेत्र का दौरा करें.

भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह 10 अक्टूबर को अमेठी में रहेंगे.प्रशासन की तरफ से उनके कार्यक्रम को मंजूरी मिल गई है.राहुल गांधी के दफ्तर के सूत्रों का दावा है कि प्रशासन राजनैतिक कारणों से राहुल के दौरे को टालना चाहता था. जिससे अमित शाह के दौरे से पहले राहुल अमेठी का दौरा ना कर सकें.