लाल किले से पीएम ने पेश किया नोटबंदी, काला धन, बेनामी संपत्ति का डेटा

Advertisement

दिल्ली.आज़ादी की 71वीं सालगिरह पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से चौथी बार लाल किले से तिरंगा फहराया. पीएम ने मन की बात में किया वादा निभाते हुए अपने भाषण को संक्षिप्त में पूरा किया. मोदी ने इस बार सिर्फ 54 मिनट का भाषण दिया, ये उनके प्रधानमंत्री काल का सबसे छोटा भाषण है. अपने भाषण में प्रधानमंत्री ने नोटबंदी,तीन तलाक़, जीएसटी,गोरखपुर अस्पताल में बच्चों की मौत का ज़िक्र किया.अपने भाषण की शुरुआत उन्होंने जन्म अष्टमी की मुबारकबाद से की.आज पूरा देश आजादी के पर्व के साथ जन्माष्टमी का पर्व भी मना रहा है. इस हफ्ते ही भारत छोड़ो आंदोलन के 75 साल पूरे हुए हैं, ये साल साबरमती आश्रम की शताब्दी का वर्ष है, ये लोकमान्य तिलक के जज्बे का 125 वां वर्ष है. हम इस साल आजादी का 70वां वर्ष मना रहे हैं और 2022 में आजादी के 75 साल. हमारी सामूहिक प्रतिबद्धता से ही 2022 में भारत का सपना न्यू इंडिया पूरा हो पाएगा.

पीएम के भाषण की ख़ास बातें

गोरखपुर पर बोले: पीएम मोदी ने पिछले गुरुवार को गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में हुई बच्चों की मौत को उन्होंने आक्सीजन सप्लाई की गड़बड़ी के बजाए प्राकृतिक आपदा करार दिया. शोक जताते हुए कहा कि विपत्ति की इस घड़ी में हम कंधे से कंधा मिलाकर उनके साथ खड़े हैं.

Advertisement

तीन तलाक: पीएम ने तीन तलाक का मुद्दा भी उठाया. तीन तलाक से पीड़ित बहनों ने देश में आंदोलन खड़ा किया, मीडिया ने उनकी मदद की. तीन तलाक के खिलाफ आंदोलन चलाने वाली बहनों का मैं अभिनंदन करता हूं, पूरा देश उनकी मदद करेगा.

नोटबंदी:पीएम ने कहा कि हमने सरकार बनाने के बाद काला धन के मुद्दे पर एसआईटी का गठन किया. तीन साल के भीतर सवा लाख करोड़ से ज्‍यादा काला धन देश में आया है. नोटबंदी के बाद देश छिपा कालाधन सामने आया. तीन लाख करोड़ से ज्‍यादा रुपये बैंकों में आए, यही नहीं नोटबंदी के बाद हमने पौने दो लाख कंपनियों को बंद किया है.

Advertisement
youtube shorts kya hai

कश्मीर: जम्मू-कश्मीर के बारे में पीएम ने कहा कश्मीर का विकास, उन्नति और उनके सपनों को पूरा करना हमारा संकल्प है. कश्मीर में जो कुछ भी घटनाएं घटती हैं, मुठ्ठी भर अलगाववादी लड़ते हैं. लेकिन ये समस्या ना गाली से सुलझेगी ना ही गोली से सुलझेगी ये समस्या सुलझेगी तो सिर्फ हर कश्मीरी को गले लगाने से ही सुलझेगी.

सर्जिकल स्ट्राइक: मोदी ने कहा जब सीमा पार सर्जिकल स्‍ट्राइक किया गया तो पूरी दुनिया ने सरकार का लोहा माना. उन्होंने कहा कि आतंकवाद हो या घुसपैठ हो हर जगह सुरक्षाकर्मियों और एजेंसियों ने अपना काम किया.
जीएसटी:पीएम मोदी ने कहा कि एक जुलाई से देश में जीएसटी लागू किया गया. इससे ट्रक वालों का 30 फीसद समय बच गया है. व्‍यापार में भी लाभ हुआ है.

बेनामी संपत्ति: मोदी ने कहा कि हमने कम समय में बेनामी संपत्ति पर कार्रवाई की, अभी तक 800 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है.

किसानों के बारे में:मोदी ने कहा कि, हमारे किसान आज रिकॉर्ड फसल उत्‍पादन करके दे रहे हैं. फसल बीमा योजना से सवा करोड़ किसान जुड़े हैं. किसानों के लिए हमनें 21 योजनाएं लागू कीं. जल्‍दी ही बाकी योजनाएं लागू की जाएंगी. हम 2022 तक ऐसा हिंदुस्‍तान बनाएंगे जहां किसान चिंता में नहीं चैन से सोएगा.

राज्य – केंद्र का समन्वय: मोदी ने कहा कि, एक समय था पहले राज्य और केंद्र के बीच में यूरिया, केरोसिन के लिए तनाव होता था. ऐसा लगता था कि केंद्र बड़ा भाई है, राज्य छोटा भाई है. मैं मुख्यमंत्री रहा हूं राज्यों की समस्या और राज्य के महत्व को जानता हूं. अब सारे निर्णय मिलकर हो रहे हैं.

अब तक का सबसे छोटा भाषण

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले साल लाल किले से सबसे लंबा भाषण देने के बाद इस साल अपना अब तक का सबसे छोटा भाषण देकर श्चर्यचकित कर दिया।पिछले साल मोदी ने 96 मिनट का भाषण दिया था, ये सबसे लंबा भाषण था। लेकिन इस साल मोदी ने 57 मिनट के संबोधन में देशवासियों से अपनी बात कही। मोदी से पहले देश के प्रथम प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू ने पहले स्वतंत्रता दिवस सामारोह में 15 अगस्त 1947 को 72 मिनट का भाषण दिया था। पिछले महीने मन की बात कार्यक्रम में मोदी ने देशवासियों की सलाह पर वादा किया था अपना संबोधन अधिक लंबा न करते हुये इसे संक्षिप्त रखेंगे.

प्रोटोकॉल तोड़ बच्चों के बीच पहुंचे मोदी

लाल किले पर सम्बोधन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रोटोकॉल तोड़कर बच्चों से मुलाकात की। लाल किले में मौजूद सभी बच्चों से मिलने पहुंच गए, बस फिर क्या था बच्चों ने भी उन्हें घेर लिया और बधाई दी।जैसे ही पीएम मोदी बच्चों के पास पहुंचे, बच्चों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा, सबके बीच में पीएम मोदी से हाथ मिलाने की होड़ मच गई। मोदी ने सबको खुश करने की पूरी कोशिश की और जहां तक हो सका उन्होंने बच्चों के साथ हाथ मिलाया।

Advertisement