लॉस वेगास: मनोरोगी था हमलावर,घर से हथियारों का बड़ा ज़खीरा मिला

वाशिंगटन.अमेरिका के लॉस वेगास गोली बारी में मरने वालों की संख्या 59 पहुंच गई है, जबकि 515 से अधिक लोग घायल हुए हैं. ये अमेरिका के इतिहास की सबसे भयावह गोलीबारी कांड है.अमेरिका की जांच एजेंसी एफबीआई ने इस घटना में किसी अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन के शामिल होने के बारे में इनकार किया है.

हमलावर ने मैंडले बे रिजॉर्ट एंड कैसीनो होटल के 32वीं मंजिल से हमला किया था. शूटर स्टीफन पैडक (64) लॉस वेगास का ही रहने वाला था. पुलिस को फिलिपिनो ओरिजिन की मेरिलाउ डैनले नाम की एक महिला की भी तलाश है. यह महिला हमलावर की साथी है. डैनले को पुलिस ने ‘पर्सन आॅफ इंटरेस्ट’ नाम दिया है.

इससे पहले अमेरिका में जून 2016 में ओरलैंडो के नाइट क्लब में हुई फायरिंग की घटना में 49 लोग मारे गए थे.वह घटना आतंकी संगठन आईएस के हमलावर ने अंजाम दी थी.इस घटना का हमलावर मानसिक रूप से बीमार था. उसकी इस बीमारी का पुराना इतिहास है. इस घटना के आईएस से जुड़ाव का कोई सुबूत नहीं है.

होटल की 32वीं मंजिल पर स्थित हमलावर स्टीफन पैडक के कमरे से पुलिस ने अलग-अलग कैलीबर की आठ बंदूकें और राइफलें बरामद की हैं.इनमें कुछ लंबी दूरी तक मार करने वाली राइफलें हैं. ज्यादा लोगों को निशाना बनाने के उद्देश्य से स्टीफन बड़ी संख्या में कारतूस और मैगजीन लेकर बैठा था.

64 वर्षीय स्टीफन नेवादा स्टेट के मेसक्विट का रहने वाला था.यह जगह लास वेगास से नॉर्थ-ईस्ट में करीब 80 किमी दूर है. यहीं, पैडॉक ने 2015 में एक घर खरीदा. वह इस घर में अपनी महिला साथी मारिलोउ डैनली के साथ रहता था. इस फायरिंग के बाद पुलिस ने पैडॉक के घर की तलाशी भी ली. बताया जा रहा है कि डैनली देश से बाहर है.

पैडॉक इंटरनल ऑडिटर के तौर पर भी काम करता था. पैडॉक का कोई सोशल मीडिया रिकॉर्ड नहीं है. उसे पायलट का लाइसेंस भी मिला था.उसके नाम एक सिंगल इंजन एयरक्रॉफ्ट भी रजिस्टर था.