सड़कों पर नमाज नहीं रोक सकते तो थानों में जन्माष्टमी क्यों रोकें:योगी

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि देश में सांस्कृतिक एकता को जोडऩे वालों को सांप्रदायिक कहा जाता है। यदि हम यह कह दें कि गर्व से कहो हम हिंदू हैं तो लोग कहेंगे देखिए सांप्रदायिक हैं। आप आराम से क्रिसमस मनाइए, नमाज पढि़ए। कोई नहीं रोक रहा है, लेकिन कानून के दायरे में रहकर। कानून का उल्लंघन होने पर ही टकराव उत्पन्न होता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच दशक पूर्व पं. दीन दयाल उपाध्याय ने अंत्योदय की बात कही थी। जनधन योजना के तहत समाज के अंतिम व्यक्ति को बैंक से जोड़ा गया। अब इसी खाते में सरकारी योजनाओं की धनराशि जा रही है। पीएम आवास योजना से ग्रामीण क्षेत्रों में 10 लाख और शहरी क्षेत्रों में दो लाख गरीबों के लिए आवास बनेंगे। यह धनराशि सीधे गरीबों के खाते में जाएगी।उन्होंने कहा कि पं. दीन दयाल उपाध्याय और डॉ. राम मनोहर लोहिया दोनों मानते थे कि श्रीराम व श्रीकृष्ण ने देश को एक रूप दिया है।