सरयू तट पर 1.87 लाख दीये जलाकर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

लखनऊ।अयोध्या में इस बार की दिवाली बेहद खास है. 1.71 लाख दीपों से पूरा सरयू तट जगमगा उठा है. दीपोत्सव में छोटी दिवाली के मौके पर माता सीता और भाई लक्ष्मण के साथ भगवान राम हेलिकॉप्टर से अयोध्या की धरती पर उतरे. जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरु वशिष्ठ की तरह उनका स्वागत किया.

अयोध्या में भगवान राम के स्वागत स्वरूप निकली शोभायात्रा के बाद अयोध्या में हो रहे इस आयोजन को लेकर यहां के हर वर्ग में उत्साह देखने को मिल रहा है. सरकार की ओर से भी दीपोत्सव के इस अति विशिष्ट आयोजन को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रेकार्ड्स में शामिल कराने की तैयारी की जा रही है.

त्रेता युग को जीवंत करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुनि वशिष्ठ के रूप में पुष्पक विमान सरीखे सजाए गए हेलीकॉप्टर से उतरकर अयोध्या की धरती पर कदम रखने वाले भगवान राम की अगवानी की. इसके पहले अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से श्री राम की शोभा यात्रा शुरू हुई.

शोभा यात्रा का समापन मुख्य मार्गों से होते हुये रामकथा पार्क में हुआ. यहीं पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंचें और पुष्पक विमान से आने के बाद भगवान राम का स्वागत किया.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दीपोत्सव कार्यक्रम का शुभारम्भ किया. इस मौके पर राज्यपाल राम नाईक दोनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य व दिनेश शर्मा, केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा भी मौजूद रहे.  त्रेता युग के तर्ज पर अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है.

भव्य दीपावली उत्सव में मुख्यमंत्री की पूरा मंत्रिमंडल भी मौजूद हैं। इस दौरान हेलिकॉप्टर के माध्यम से भगवान श्रीराम पर पुष्प वर्षा की गई. वहां मौजूद सैकड़ों लोगों ने जय श्रीराम के नारे लगाए.

वहीं सोशल मीडिया पर भी अयोध्या के दीपोत्सव की धूम है.फेसबुक और ट्विटर की तमाम प्रोफाइलों पर इसकी चर्चा के बाद अब योगी सरकार के इस आयोजन ने ट्विटर की टॉप ट्रेंडिंग लिस्ट में जगह बना ली है.वहीं दीपोत्सव के कार्यक्रम के लिए तमाम स्वयंसेवकों और प्रशासनिक अधिकारियों को सुचारु व्यवस्थाओं के लिए तैनात किया गया है.

अयोध्या में सरयू नदी के तट पर करीब 1 लाख 71 हजार दीये जलाए गए. जो कि एक रिकॉर्ड हो सकता है.इससे पहले एक साथ सबसे ज्यादा दीये जलाने का रिकॉर्ड रेप के आरोप में 20 साल की सजा काट रहे डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के नाम है.

गिनीज़ बुक रिकॉर्ड की वेबसाइट के अनुसार, 23 सितंबर 2016 को हरियाणा में 150,009 दीये जलाए गए थे। इस कार्यक्रम में करीब 1531 लोगों ने हिस्सा लिया था.