सर्वे के मुताबिक़ शिंजो आबे की पार्टी को बहुमत मिलेगा

टोक्यो.जापान में चुनाव पूर्व हुए सर्वे में प्रधानमंत्री शिंजो आबे विजय की ओर बढ़ते दिखाई दे रहे हैं. जापान एक अखबर मैनिची शिम्बुन के सर्वे के अनुसार, आबे की कंजर्वेटिव लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी (एलडीपी) को 22 अक्तूबर को होने वाले चुनाव में 465 में से 303 सीटों पर जीत मिल सकती है.

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने 28 सितंबर 2017 को आधिकारिक तौर पर संसद भंग कर राष्ट्रीय चुनाव अभियान की शुरुआत की थी.सर्वे में तोक्यो के लोकप्रिय गवर्नर की नई पार्टी हारती दिखाई दे रही है.

एलडीपी के गठबंधन सहयोगी कोमिटो पार्टी को 30 से ज्यादा सीटें मिलने की संभावना है. जिससे शक्तिशाली निचले सदन में आबे की सत्तारूढ़ पार्टी को दो तिहाई बहुमत मिलने की संभावना है.

सर्वे में तोक्यो के गवर्नर युरिको कोइके की नवगठित पार्टी ऑफ होप के लिए समर्थन कम होता दिखाई दे रहा है. सर्वेक्षणों में उसे 54 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है.

चुनाव में वह टोक्यो की लोकप्रिय गवर्नर से अप्रत्याशित और मुश्किल चुनौती का सामना कर रहे हैं. इससे पहले जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने 25 सितंबर को आम चुनाव समय से पहले कराने की घोषणा की थी. शिंजो आबे ने उम्मीद जताई थी कि वो इस बार का चुनाव भी जीतेंगे.

शिंजो आबे दिसंबर 2012 से जापान के प्रधानमंत्री पद पर बने हुए हैं. इन्होंने पूर्व में भी (2006 से 2007 तक) जापान के प्रधानमंत्री पद को सम्भाला था. अबे लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी (LDP) और ओयागाकू प्रणोदन संसदीय समूह के अध्यक्ष हैं.

जब अबे जापान की राष्ट्रीय संसद (डाइट) की विशेष सत्र में 26 सितम्बर 2006 में पहली बार प्रधानमंत्री पद के लिए चुने गए, तब वे, द्वितीय विश्व युद्ध के बाद के, जापान के सबसे कम उम्र के प्रधानमंत्री थे.

ही साथ, वे द्वितीय विश्व युद्ध के बाद जन्मे पहले प्रधानमंत्री थे.एक साल से भी कम अवधि तक सेवा में रहने के बाद उन्होंने 12 सितम्बर 2007 में प्रधानमंत्री पद से त्यागपत्र दे दिया था.