पाटीदार इलाकों में भाजपा नेताओं के लिए धारा 144, कमल वालों के लिए प्रवेश निषेध

Advertisement

एक समय था जब भाजपा ने पाटीदार समुदाय के लोगों के लिए धारा 144 लगा दिया था. तब आन्दोलन के समय पाटीदारों पर धारा 144 लगा कर पाटीदार नेताओं पर लाठीचार्ज किया गया था. परन्तु आज चुनाव के समय पाटीदारों ने यही काम भाजपा और उनके नेताओं के साथ किया है.

patidaar anti bjp poster
भाजपा के खिलाफ लगे पोस्टर

गुजरात में पाटीदारों ने अपने इलाके में पोस्टर लगवा दिए हैं जिनपर लिखा है- “भाजपा नेताओं के लिए धारा 144, कमल वाले वोट मांगने न आयें.”

सूरत में पाटीदार बहुल इलाके में ऐसे कई पोस्टर लगाए गए हैं. इतना ही नहीं बल्कि वोट मांगने आ रहे भाजपा के नेताओं को भगाया जा रहा है. आजतक की रिपोर्ट के अनुसार कुछ इलाकों में तो अंडे फेंके जाने की भी खबर है.

क्यों किया जा रहा है ऐसा?

दरअसल मामला काफी पुराना है. पाटीदार आरक्षण आन्दोलन के दौरान भाजपा सरकार ने पूरे इलाके में धारा 144 लागु कर दी थी. उस समय यदि कोई पाटीदार नेता या व्यक्ति बाहर निकलता था तब उसे पीटा जाता था. पाटीदार नेताओं के तमाम अनुरोध के बावजूद भी इस मामले को शांत नहीं किया गया तथा धारा 144 नहीं हटाई गयी.

Advertisement

bjp-gujrat-patidar protest

अब चुनाव के वक़्त पाटीदारों ने यही काम भाजपा नेताओं के साथ करना शुरू कर दिया है जिससे माहौल ख़राब हो गया है. कहीं कहीं तो मामला पुलिस तक पहुंच गया है. भाजपा नेताओं का कहना है कि यह कांग्रेस की चाल है. कुछ लोगों को पैसे दे कर ऐसा करने को कहा गया है.

वहीँ पाटीदारों का कहना है कि आन्दोलन के दौरान हमारे 14 युवकों की जान गयी तथा कई लोग घायल हुए. आन्दोलन को बेहद क्रूरतापूर्वक दबा दिया गया था. पाटीदारों का कहना है कि भाजपा नेता अब ‘वोट की भीख मांगने हमारी सोसाइटी में न आयें’.

 

Advertisement