20 साल की सज़ा के बाद राम रहीम को जेल में करना होगा माली का काम

रोहतक: अरबों की संपत्ति बनाने वाले राम रहीम को माली के अलावा फैक्ट्री में भी काम करना होगा. इसके लिए उसे 40 रुपये रोज का मेहनताना दिया जाएगा. सजा मिलने के बाद रात राम रहीम पूरी रात जेल के बैरक में जागता रहा और इधर से उधर टहलता रहा. गुरमीत को खाने में 4 रोटी और सब्जी दी गई थी, लेकिन सिर्फ आधी रोटी ही खाई. राम रहीम को नया कैदी नंबर 8647 दिया गया है. डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत सिंह उर्फ़ बाबा राम रहीम को सोमवार को अदालत ने रेप के दो मामलों में 20 साल की सज़ा सुनाई थी.

उल्लेखनीय है कि सोमवार को सज़ा सुनाई तो बलात्कारी राम रहीम बहुत गिड़गिड़ा कर रोने लगा और जज से विनती करने लगा. इसके बाद बाबा जज के सामने चिल्लाता रहा कि मैं निर्दोष हूं, प्लीज मुझे माफ कर दीजिए. लेकिन जज जगदीप सिंह ने अपना फैसला सुना ही दिया.सजा सुनाए जाने के बाद राम रहीम को मेडिकल टेस्ट के लिए ले जाया गया. जिसके बाद उसे सामान्य कैदियों की तरह कपड़े दिए गए. जिसके बाद उसे जेल के छोटे से कमरे में डाल दिया गया.

जेल के आला अधिकारियों ने बताया कि उसकी सुरक्षा के लिए उसे अन्य कैदियों से अलग रखा गया है. इसके अलावा राम रहीम के वकीलों ने मांग की थी कि उसके स्वास्थ्य को देखते हुए दो लोगों को उसके साथ रहने के इजाज़त दी जाए लेकिन अदालत ने इंकार कर दिया. 50 साल का बलात्कारी गुरमीत कथित तौर पर पीठ दर्द और माइग्रेन का शिकार है. वीआईपी कैदी गुरमीत राम रहीम की सुरक्षा के लिए जेल में दो अफसर तैनात किये हैं.

जेल जाने से पहले तक हरियाणा सरकार ने जेड प्लस सुरक्षा गुरमीत को दे राखी थी. जेल में राम रहीम को ऐसा कमरा दिया गया है जहां आराम से अधिकारी आ जा सके है. जेल सूत्र बताते हैं कि राम रहीम दोषी ने करार दिए जाने के बाद से जेल में भारी खाना नहीं खाया है. इस बीच उसने सिर्फ थोड़ा पानी और कुछ दूध लिया है. उसने जेल में अन्य किसी शख्स से बात भी नहीं की.