आखिर कोई प्यार में गहरे सम्बन्ध बनाना किसी क्लास में सीख कर तो आता नहीं हैे। प्यार में हमेशा ताजगी रहे ऐसे सम्बन्ध बनाना एक कला और विज्ञान है। हांलांकि हम जानते हैं कि कैसे हम अपने सम्बन्धों को, चाहे वह हमारा जीवन साथी हो, गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड हो, दोस्त या कार्यस्थल पर सहकर्मी हो, मजबूत बना सकते हैं पर जरूरत है तो बस उनमें थोड़ा बदलाव कर उन्हें आजमाने की।

love after wedding

1. विश्वास से भरा माहौल बनायें और बहस से बचें

अनचाहा दखल देना और बहस करना अच्छा नहीं होता है। सच का साथ दें। यदि आपको लगता है कि आप गलत हैं तो माफी मांगने में झिझकें नहीं। अगर आप गुस्से में हैं तो अपने बोलने पर कंट्रेाल रखें। उस जगह से चले जायें, गहरी सांसें लें और शांत रहने की कोशिश करें। याद रखें कि जिसके साथ बहस हो रही है वह आपका दुश्मन नहीं बल्कि साथी, आपका लवर, आपका दोस्त है और सबकी राय तो हमेशा एक समान हो नहीं सकती।

2. फैक्ट्स को भावनाओं से अलग रखें

किसी के साथ मतभेद के दौरान आपके अन्दर उसके प्रति जो भाव उठते हैं हो सकता है वे पुरानी घटनाओं पर आधारित हों और आप वर्तमान स्थिति को भी उसी रूप में देख रहे हों। इससे बाहर निकल कर सच जानने की कोशिश करें। अगर आप भावनाओं की बजाय फैक्ट्स से काम लेंगे तो आप मतभेद का निपटारा आराम से कर सकते हैं। इससे आपके प्यार की नींव मजबूत रहेगी।

3. दिल और दिमाग, दोनों की सुनें

जरूरी नहीं कि आपका दिल जो कहे दिमाग भी उसी का साथ दे। दोनों की राय अलग हो सकती है। दिल और दिमाग को आपस में बहस करने दें और देखें कि कौन सही है। जो हल मिलेगा वह आपकी तरफ से होगा न कि खाली दिल या दिमाग से। ऐसा करने से आप अपने पार्टनर के प्रति जो राय बनाएंगे या जो भी फैसले लेंगे उन पर आपको बाद में पछताना नहीं पड़ेगा कि काश उस समय मैंने दिल की नहीं दिमाग की सुनी होती तो आज मेरा प्यार मुझ से रूठ नहीं गया होता।

यह भी पढ़िए  वैवाहिक जीवन को सफल बनाने के 7 उपाय

4. दूसरे के प्रति कोई स्थायी राय न बनायें

अपने साथी के प्रति पहले से राय बनाकर उसे जानने की कोशिश न करें। इस प्रकार आप दूसरे व्यक्ति को जानने के रास्ते बंद कर देते हैं। अच्छा होगा कि आप अपने साथी के साथ संवेदना रखें, उसके पहलु से बातों को समझने की कोशिश करें। जब आप ऐसा करेंगे तो आप उसके ज्यादा करीब रहकर उसको समझ पायेंगे। ऐसे में बातचीत खाली जवाब देने तक ही सीमित नहीं रहेगी बल्कि आपके सम्बन्ध को एक अच्छा रिस्पाॅन्स मिलेगा।

5. ”मैं“ नहीं ”हम“ को जगह दें

अच्छे सम्बन्ध की बुनियाद ”मैं“ नहीं, बल्कि ”हम“ पर टिकी होती है। एक दूसरे के साथ सम्बन्ध में आपको एक दूसरे के लिए कुछ न कुछ सैक्रिफाईज़ करना पड़ता है नही तो सम्बन्ध टूटने की सम्भावना रहती है। किसी सम्बन्ध का मतलब ही ”हम“ से है ”मैं“ से नहीं। मैं “ही” वाली एटीट्यूड को अवॉयड कर मैं “भी” की एप्रोच रखें।

6. टाईम के साथ स्थिति बदल जाती है

हर व्यक्ति के जीवन में कुछ न कुछ उतार-चढ़ाव रहता है। इस दौरान होने वाले इमोश्नल स्ट्रेस को दूर करने के लिए आप अपने साथी से अपेक्षा न करें । आपका साथी आपको इसमें मदद जरूर कर सकता है पर याद रखें, हमारे घावों को समय के साथ हम खुद भर सकते हैं दूसरा कोई नहीं। स्वस्थ सम्बन्ध में रहने का मतलब ही घावों से पार उतरना है और वह भी अपने आप। आप अपनी बीती ज़िन्दगी का बोझ अपने पार्टनर के कन्धों पे रखने से बचें। वरना आपकी आने वाली ज़िन्दगी दुखदायी हो सकती है और आप का प्यार कभी भी उस ऊंचाई तक परवान नहीं चढ़ सकेगा जहाँ तक उसे जाना चाहिए।

यह भी पढ़िए  वैवाहिक जीवन को सफल बनाने के 7 उपाय

7. अपने प्यार को गहराई देने के लिए कुछ समय निकालें

आप कौन है या क्या करते है, इस बात का कोई फर्क नहीं पड़ता। आपको अपने सम्बन्ध को मज़बूत बनाने के लिए समय तो निकालना ही पड़ेगा। कामकाज तो खत्म होने से रहे। आपके लिए अगर आपका साथी खास है तो उसे व्यक्तिगत रूप से मिल कर समय दीजिये न कि डिजीटली मैसेज भेज कर। फिर देखिये कि आपका समबन्ध कितना मजबूत बनता है।

8. मुश्किल बातों को प्यार से कहें

कुछ कठिन बातों को कहते हुए सतर्क रहें। आपके बताने का तरीका दूसरे को परेशान कर सकता है और आपके सम्बन्ध में दरार भी पैदा कर सकता है। ऐसी बातों को प्यार से समझाकर बताना ही सम्बन्ध को मज़बूती देता है।
याद रखें कि बदलाव आने में समय जरूर लगेगा लेकिन यदि आप इन बातों का ध्यान रखेंगे तो धीरे-धीरे आप एक एवरलास्टिंग प्यार के सम्बन्ध की सीढ़ी पर बढ़ते जायेंगे। इन 8 बातों को अपना कर आपका प्यार वक़्त के साथ गहरा होता जाएगा!

हिंदी वार्ता से जुडें फेसबुक पर-अभी लाइक करें

 
सरिता महर
हेल्लो दोस्तों! मेरा नाम सरिता महर है और मैं रिलेशनशिप तथा रोचक तथ्यों पर आप सब के लिए मजेदार लेख लिखती हूँ. कृपया अपने सुझाव मुझे हिंदी वार्ता के माध्यम से भेजें. अच्छे लेखों को दिल खोल कर शेयर करना मत भूलना