अब सिर्फ़ 50 सामानों पर 28 फीसदी जीएसटी, इस महीने की 15 तारिख से होगा लागू.

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा की GST काउंसिल की 23वीं बैठक में जीएसटी में बड़े बदलाव के बाद शैम्‍पू, टूथपेस्‍ट और रेस्‍टोरेंट में खाना हो जायेगा सस्‍ता.अब सिर्फ़ 50 सामानों पर 28 फीसदी जीएसटी.

जीएसटी परिषद की बैठक के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि 28 प्रतिशत के कर स्लैब वाली 228 वस्तुओं में से 178 पर अब निचला 18 प्रतिशत का कर लगेगा.

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को कहा कि वस्तु एवं सेवा कर परिषद (जीएसटी) ने 178 वस्तुओं पर जीएसटी दर घटाकर 18 प्रतिशत कर दिया गया है.

इन चीज़ो को पहले 28 प्रतिशत के कर दायरे में रखा गया था.दो दिवसीय लंबी बैठक के बाद वित्त मंत्री ने संबोधित करते हुए कहा की 178 वस्तुओं को 28 प्रतिशत के कर दायरे से बाहर कर दिया है.यह इस महीने की 15 तारिख से होगा लागू.

वित्त मंत्री अरुण जेटली के अनुसार दो वस्तुओं के कर दायरे को 28 प्रतिशत से घटाकर 12 प्रतिशत कर दिया गया है.13 उत्पादों पर जीएसटी की दर 18 से घटाकर 12 प्रतिशत की गई. पांच पर यह 18 से पांच प्रति की गई. वहीं छह पर जीएसटी की दर पांच से घटाकर शून्य की गई.

शैम्‍पू, डिऑडरेंट, टूथपेस्‍ट, शेविंग क्रीम, आफ्टरशेव लोशन, शू पॉलिस, चौकलेट, च्‍यूइंग गम और पौष्टिक पेय जैसी वस्‍तुएं उन वस्‍तुओं में शामिल हैं. जिनपर अब 28 फीसदी की दर से जीएसटी नहीं लगेगा.

रोज़मर्रा के इस्तेमाल की शैम्पू, डियोडरेंट, टूथपेस्ट, शेविंग क्रीम, आफ्टरशेव लोशन, जूतों की पॉलिश, चॉकलेट, च्यूइंग गम तथा पोषक पेय पदार्थ जैसी वस्तुएं अब सस्ती हो जाएंगी.

सभी एसी और गैर एसी रेस्तरांओं के लिए कर की दर समान पांच प्रतिशत रहेगी.सितारा होटलों में रेस्तरां 18 प्रतिशत का कर लेंगे. उन्हें इनपुट कर क्रेडिट मिलेगा. निचली श्रेणी के होटलों पर पांच प्रतिशत का जीएसटी लगेगा.

राजस्व सचिव हसमुख अधिया के अनुसार देरी से जीएसटी दाखिल करने पर शून्य देनदारी वाले करदाताओं पर जुर्माना 200 रुपये से घटाकर 20 रुपये प्रतिदिन किया गया.

काउंसिल हर माह तीन इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की अनिवार्यता की भी समीक्षा कर रही है, ताकि रिटर्न फाइल किए जाने की प्रक्रिया को टैक्सपेयर-फ्रेंडली बनाया जा सके.