इन दिनों लगभग दुनिया के कई देश अपने बड़े शहरों में होने वाली ट्रैफिक की समस्या से परेशान है. परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के कई पहलों के बाद भी इस परेशानी से निजात नहीं मिल पा रही है. ऐसे में कई सारे देशों ने एयर टैक्सी योजना को अपनाने की दिशा में कदम उठा लिया है.

लेकिन इस सूचि में एक ऐसा देश है जो जल्द ही अपने नागरिकों के लिए ये सुविधा शुरू करने वाला है. ख़बरों के मुताबिक दुबई जल्द ही अपने देशवासियों को ट्रैफिक समस्या से निजात देने के लिए ड्रॉन टैक्सी का सौगात देने जा रहा है. दुबई ने इन ड्रान टैक्सी को वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट पेश किया था. खबर है कि जुलाई में इन्हें आम सवारियों के लिए पेश कर दिया जाएगा. जिसके बाद कोई भी इस टैक्सी में सफ़र कर सकेगा. इस बात की जानकारी दुबई के सड़क एवं यातायात एजेंसी के प्रमुख मातर अल तायेर ने हाल ही में दी है.

चीन निर्मित इस टैक्सी का नाम इहांग 184 है. इसके चारो ओर 1-1 हैंडल लगे हैं. हर हैंडल में 2-2 पंखियां लगी हैं. अंडे के आकर का यह टैक्सी बिना ड्राईवर के उड़ेगा. इस टैक्सी में एक बार में केवल एक व्यक्ति ही उड़ान भर सकेगा. यह लगातार 30 मिनट तक हवा में रह सकता है. सवारी को यान में लगे टच स्क्रीन मॉनिटर पर अपने गंतव्य स्थान कि जानकारी देनी होगी. इस टैक्सी पर कंट्रोलरूम लगातार निगरानी रखेगी. अच्छी बात यह होगी कि य़ात्रि इसकी सुविधा OLA या UBER के जरिये भी ले सकेंगे.

गौरतलब है कि फ्रांस की विमान निर्माता कंपनी एयरबस ने भी इस साल से अपने एयर टैक्सी का परिक्षण करने का ऐलान किया था. एयरबस ने पिछले साल इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया था. कंपनी ने एक अवधारणा पर काम शुरू किया था. लेकिन विज्ञान की यह पहल काबिले तारीफ है. अगर एयरबस इस तकनीक को सफलता पूर्वक अंजाम देता है तो जल्द ही दुनिया के कई देशों को ट्राफिक कि परेशानी से निजात मिल जाएगा. हालांकि यह कहना अभी मुश्किल होगा कि यह यात्रियों के बजट में होगा या नही.

जाहिर है कि शुरूआती दौर में यात्रियों के लिए यह एक महंगा विकल्प होगा. लेकिन धीरे-धीरे इसमें आने वाले खर्च पर काबू पाया जा सकता है. इस सुविधा से लोग बेहद आसानी से और कम समय में उन जगहों पर जा सकेंगे जहाँ सड़क मार्ग से जाना मुश्किल होता है.

हिंदी वार्ता से जुडें फेसबुक पर-अभी लाइक करें

 
Mritunjay
राष्ट्रीय राजनीति में विशेष रुझान रखते हैं. कभी कभार अन्य मुद्दों पर भी अपनी राय बेबाक तरीके से रखते हैं ! विशेष जानने के लिए इनसे फेसबुक के माध्यम से जुड़ सकते हैं! हिन्दीवार्ता पर इनके रोचक लेखों को पढ़िए और दिल खोल कर शेयर कीजिये.