आजम खान ने कालेधन को लेकर भाजपा को घेरा – लगाया माल्या से मिलीभगत का आरोप

Advertisement

जहाँ एक तरफ भाजपा नोटबंदी को काले धन के खिलाफ एक जंग की तरह इस्तेमाल कर आगामी उत्तर प्रदेश और पंजाब चुनाव में पार्टी की वैतरणी पर लगाने की ताक में है वहीँ समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान ने भाजपा पर कालेधन की नकली सियासत को लेकर निशाना साधा है. समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान अक्सर विवादित बयान देने के लिए जाने जाते हैं।

ajam khan ne bhajapa par lagaya mallya se mili bhagat ka aropआज़म खान ने कहा, ‘सुना है केंद्र सरकार राष्ट्रपति भवन एक प्रस्ताव भेजने वाली है, विजय माल्या को भारत रत्न देने का।’ बता दें कि कुछ दिन पहले भी आजम खान ने नोटबंदी के मामले में केंद्र सरकार पर तंज कसा था। उन्होंने कहा था कि सरकार भगौड़ों का कर्ज माफ कर रही है और गरीबों के पास कालाधन ढूंढ रही है।

Advertisement

गौरतलब है कि शराब कारोबारी विजय माल्या लोन डिफॉल्टर हैं। पिछले दिनों संसद में भी उनका मुद्दा छा गया था। सीपीएम के नेता सीताराम येचुरी ने मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा था कि एक तरफ सरकार ब्लैकमनी पर रोक लगाने के नाम पर नोटों को बंद कर रही है, वहीं माल्या जैसे डिफॉल्टरों का कर्ज माफ किया जा रहा है।

Advertisement

इस पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने उनके भाषण के बीच में ही जवाब देते हुए कहा कि माल्या का कर्ज माफ नहीं किया गया, बल्कि राइट ऑफ किया गया है। इसका अर्थ माफ करना नहीं होता, बल्कि नॉन परफॉर्मिंग एसेट्स करार देना होता है।

Advertisement
youtube shorts kya hai

पहले से डीएनए की रिपोर्ट्स के हवाले से मीडिया में खबर है कि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने 7,016 करोड़ रुपये के कर्ज को राइट ऑफ कर दिया गया। डीएनए की रिपोर्ट के मुताबिक विलफुल डिफॉल्टर साबित हुए 63 लोगों या कंपनियों को एसबीआई ने यह लोन जारी किए थे। इन लोगों में शराब कारोबारी और दिवालिया हो चुकी किंगफिशर एयरलाइंस के मालिक विजय माल्या का भी नाम शामिल है।

Advertisement