तो क्या अब गुरुदासपुर सीट से अक्षय कुमार नहीं लड़ पाएंगे चुनाव

जालंधर: गुरुदासपुर, पंजाब सीट से भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता विनोद खन्ना के बाद अक्षय कुमार का नाम लिया जा रहा था चुनाव के लिए|
अभी कुछ समय पहले ही बीजेपी के सांसद और मशहूर अभिनेता विनोद खन्ना की मृत्यु हो गई थी| जिसकी वजह से गुरदासपुर सीट खाली हो गई है| इस सीट को लेकर पार्टी में काफी घमासान चल रहा है| सभी नेता इस सीट को लेने की जद्दोजेहद में है| इस सीट पर बहुत जल्द ही उपचुनाव होने है|

अक्षय कुमार नहीं लड़ सकते है कहीं से भी चुनाव

अक्षय कुमार नहीं लड़ सकते है कहीं से भी चुनाव

गुरुदासपुर सीट के लिए कई नेता जोर-आजमाइश कर रहे थे| परन्तु जैसे ही पता चला कि इस सीट से भाजपा बॉलीवुड स्टार अक्षय कुमार को चुनाव मैदान में उतारना चाहती है| तो कई नेताओ कि ख़ुशी गम में बदल गई थी| परन्तु जब से पता चला है कि अक्षय कुमार चुनाव नहीं लड़ सकते| नेताओ की ख़ुशी बढ़ गई है| अक्षय के कनाडा नागरिक होने की खबर है| सूत्रों के मुताबिक अक्षय कुमार 2014 में कनाडा नागरिकता ले चुके है| जिसकी वजह से अब वो भारत के किसी भी स्थान से चुनाव नहीं लड़ सकते है| यह खबर मिलते है ही जो नेता टिकट के लिए जोर-आजमाइश कर रहे थे| उनके चेहरे पर रौनक लौट आयी है| सभी में ख़ुशी का माहौल है|

भाजपा के पास ज्यादा विकल्प नहीं है गुरुदासपुर सीट के लिए

भारतीय जनता पार्टी के पास गुरुदासपुर सीट के लिए ज्यादा विकल्प नहीं है| स्वर्ण सलारिया पहले ही इस सीट पर अपनी दावेदारी मजबूत कर चुके है| 2014 लोकसभा चुनावों के समय भी उनकी दावेदारी मजबूत थी| परन्तु पार्टी ने आखिरी समय में उनकी जगह दुबारा विनोद खन्ना को सीट दे दी थी| अब जब विनोद खन्ना नहीं रहे, तो बीजेपी के पास ज्यादा विकल्प नहीं है| उम्मीद की जा रही है कि सीट से वो स्वर्ण सलारिया को ही अपना उम्मीदवार बना सकती है| सलारिया के साथ ही पार्टी के वरिष्ठ नेता मास्टर मोहन लाल भी टिकट पाना चाहते है|

अक्षय कुमार नहीं लड़ सकते है कहीं से भी चुनाव

भारतीय जनता पार्टी नरेंद्र मोदी के नाम पर लगभग हर चुनाव जीत रही है| पर पंजाब विधानसभा चुनावो में उसकी करारी हार ने पंजाब में बीजेपी को सोचने पर मजबूर कर दिया है| अगर बीजेपी गुरुदासपुर सीट हार जाती है| तो पंजाब में आने wale समय में उनके लिए बहुत बड़ा धक्का होगा|