अपठित गद्यांश – मनुष्य भगवान की श्रेष्ठ रचना

Advertisement

Apathit Gadyansh with Answers in Hindi unseen passage 

मानव का अकारण ही मानव के प्रति अनुदार हो उठना न केवल मानवता के लिए लज्जाजनक है, वरन अनुचित भी है । वस्तुतः यथार्थ मनुष्य वही है जो मानवता का आदर करना जानता है, कर सकता है । केवल इसलिए की कोई मनुष्य बुध्दिहीन है अथवा दरिद्र वह घृणा का तो दूर रहा, उपेक्षा का भी पात्र नहीं होना चाहिए। मानव तो इसलिए सम्मान के योग्य है की वह मानव है,भगवान की सर्वश्रेष्ठ रचना है ।

उपर्युक्त अपठित गद्यांश के आधार पर निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए –

प्रश्न (अ) उपर्युक्त गद्यांश का उचित शीर्षक दीजिए ।
प्रश्न (ब) मानव क्यों सम्मान के योग्य है ?
प्रश्न (स) यथार्थ मनुष्य किसे कहा गया है ?
प्रश्न (द) विलोम शब्द लिखिए – सम्मान, अनुदार
प्रश्न (इ) उपर्युक्त गद्यांश का सारांश लिखिए ।

Advertisement

उत्तर – 

प्रश्न (अ) का उत्तर -मनुष्य भगवान की श्रेष्ठ रचना
प्रश्न(ब)काउत्तर-मानव सम्मान के योग्य है क्योकि वह मानव है और ईश्वर की सर्वश्रेष्ठ कृति है ।
प्रश्न (स) का उत्तर-यथार्थ मनुष्य उसे कहा गया है जो मानवता का आदर करना जानता है ।
प्रश्न (द) का उत्तर- शब्द विलोम
सम्मान अपमान
अनुदार उदार
प्रश्न (इ) का उत्तर- मानव ईश्वर की अनुपम कृति है । उसे उदारता पूर्वक बुध्दिहीन और गरीबों का सम्मान और सहायता करनी चाहिए । किसी से घृणा नहीं करनी चाहिए ।

अपठित गद्यांश के 50 उदाहरण

  • Apathit Gadyansh with Answers in Hindi Class 12
  • Apathit Gadyansh with Answers in Hindi Class 11
  • Apathit Gadyansh with Answers in Hindi Class 10
  • Apathit Gadyansh with Answers in Hindi Class 9
  • Apathit Gadyansh with Answers in Hindi Class 8
  • Apathit Gadyansh with Answers in Hindi Class 7
  • Apathit Gadyansh with Answers in Hindi Class 6
  • Apathit Gadyansh with Answers in Hindi Class 5
Advertisement