“पत्थर बम बरस रहे हों तो जवानो को मरने के लिए नहीं कह सकता”- सेना प्रमुख

नयी दिल्ली : सेना प्रमुख ने कश्मीर मुद्दे पर बात करते हुए कहा कि जहां पत्थर बम बरस रहे हों वहां जवानो को मरने के लिए नहीं कह सकता.

bipin rawat

उन्होंने कहा कि कश्मीर के डर्टी वॉर से बचने के लिए सेना को नए नए तरीके खोजने की जरूरत है. सेना प्रमुख बिपिन रावत घाटी में पत्थरबाज़ी से बचने के लिए आर्मी जीप पर कश्मीरी को बांधे जाने का समर्थन कर रहे हैं .

सेना प्रमुख ने यह भी कहा कि मैं खुश होता अगर प्रदर्शनकारी पत्थर फेंकने के बजाए हथियारों से फायर कर रहे होते। रावत के मुताबिक, कश्मीर मुद्दे के ठोस हल की जरूरत है और हर किसी को इसमें शामिल होना होगा।

पिछले महीने चुनावों के दौरान आर्मी ने एक कश्मीरी शख्स को जीप से बांध कर इलाके में घुमाया था. उस शख्स के आगे एक तख्ती लगी हुई थी जिसमे लिखा था कि मैं पथरबाज़ हूँ.

हालाँकि इस मुद्दे पर बाद में राजनीति गर्म हो गयी थी. जिसपर उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर जांच कराने की मांग की थी.