बात बनती दिख रही हैं गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस और हार्दिक पटेल के बीच…

Advertisement

बात बनती दिख रही हैं गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस और पाटीदार अनामत आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल के बीच,आरक्षण के मुद्दे पर कांग्रेस को कड़ा रुख दिखते हुए,अल्टीमेटम देने के बाद हार्दिक पटेल के सुर ठंडे पड़ते दिखाई दे रहे हैं.

हार्दिक पटेल ने कहा दिया है कि 3 नवंबर को सूरत में होने वाली कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की जनसभा मे वे शांति बनाये रखेगे.

Advertisement

हार्दिक पटेल कांग्रेस की कानूनी राय का इंतजार करेगे आरक्षण वाले मुद्दे पर. लेकिन इंतज़ार सिर्फ 7 नवंबर तक करेगे आरक्षण पर कांग्रेस के प्लान का. हार्दिक ने संकेत दिए हैं कि अगर राहुल गांधी चाहते हैं, तो हम खुद जाकर बात करेंगे.

हार्दिक पटेल की  चेतावनी के बाद .सोमवार को पाटीदारों के साथ कांग्रेस नेताओं ने मीटिंग की. मीटिंग के बाद हार्दिक ने बताया कि पटेल समाज के पांच में से 4 मुद्दों पर कांग्रेस से सहमति बन गई है.

आरक्षण आंदोलन में हिंसा के बाद पाटीदार समाज के लोगों के खिलाफ दर्ज केस वापस होंगे.कांग्रेस ने सहमति दिखाए कीआरक्षण आंदोलन के दौरान दर्ज  590 में 290 केस वापस लिए जाएंगे. साथ ही राजद्रोह के केस भी वापस लेने होंगे.

कांग्रेस ने वादा किया है कि सरकार बनने पर पाटीदार हिंसा पीड़ित परिवारों को 35 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी. साथ ही परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी.

Advertisement
learn ms excel in hindi

पाटीदार आरक्षण आंदोलन के दौरान गोलीबारी और लाठीचार्ज करने वालों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन भी कांग्रेस ने दिया है.कांग्रस ने कहा है कि सरकार बनने पर इस संबंध में जांच समिति बनाई जाएगी और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई होगी.

पटेलों की मुख्य मांग आरक्षण पर कांग्रेस ने सोमवार की मीटिंग में कोई वादा नहीं किया है.कांग्रेस ने आरक्षण के मुद्दे को टेक्निकल बताते हुए कानूनी सलाह लेने की बात कह कर थोड़ा समय माँगा है. कांग्रेस ने क़ानूनी सलाह लेकर पार्टी का रुख स्पष्ट करने का आश्वासन दिया है,पाटीदारों को.

कांग्रेस ने सरकार बनने पर 600 करोड़ के आयोग को 2 हजार करोड़ तक ले जाने का वादा किया है.इस आयोग को संवैधानिक आधार पर लागू किया जाएगा, जिसे केंद्रीय दर्जा दिया जाएगा.

दशकों से बीजेपी वोटर रहे गुजरात के पाटीदार इस बार आरक्षण के मुद्दे को लेकर काफी नाराज हैं.यही वजह है कि 1995 से गुजरात की सत्ता से बाहर कांग्रेस इस बड़े समुदाय को लेकर अपनी चुनावी नैया पार लगाने की हर मुमिकन कोशिश कर रही है

राहुल गांधी नवसृजन यात्रा  लिए 1 से 3 नवंबर तक गुजरात दौरे पर रहेंगे.गुजरात में दो चरणों में विधानसभा चुनाव होने हैं. पहले चरण के लिए 9 दिसंबर को 19 जिलों की 89 सीटों पर मतदान होगा.

जबकि दूसरे चरणे के तहत 14 दिसंबर को 14 जिलों की 93 सीटों पर वोटिंग होगी. चुनाव नतीजे 18 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे.

Advertisement