भद्रा में क्या-क्या कार्य करने चाहिए और क्या नहीं?

Bhadra mein kya kya karya karne chahiye aur kya nahin?

उत्तर: भद्रा में अग्नि लगाना (आग से संबंधित कारखाने), किसी वस्तु को काटना, विष का उपयोग, अस्त्र शस्त्र का प्रयोग (आपरेशन आदि), भैंस, घोडा और ऊँट संबंधी अखिल कर्म एवं उच्चाटन, मारण आदि तंत्र प्रयोग मीन संक्रान्ति में, महादेव व गणेश पूजा में, देवी के पूजन हवन के कार्य, विष्णु सूर्य आराधना संबंधित कार्य भद्रा में कर सकते हैं। परन्तु भद्रा विवाहादि सभी मांगलिक कार्य, यात्रा और गृहारंभ एवं गृह प्रवेश आदि सभी शुभ कार्य करने में एकदम वर्जित है। यदि अति आवश्यकता में करना पड़े तो भद्रा पुच्छ में कर सकते हैं, वो भी केवल शुक्ल पक्ष में ही। कृष्ण में भद्रा मुख ही मांगलिक कार्यों में ले सकते हैं।