भगवान् कृष्ण ने युधिस्ठिर को बताया था गरीबी दूर भगाने का राज

Advertisement

Bhagwaan Krishan Ne Yudhisthir Ko Bataya Tha Garibi Dur Bhagane Ka Raaz

भगवान कृष्ण ने कुछ ऐसी चीजों का वर्णन भी किया था, जिन्हें घर में रखकर सामान्य मनुष्य दरिद्रता की स्थिति को टाल सकता है।  महाभारत के अनुसार एक बार पांडवों के ज्येष्ठ भ्राता युधिष्ठिर ने श्रीकृष्ण से पूछा था कि “घर में सदैव सुख-समृद्धि रहे, धन-धान्य में कमी ना हो, इसके लिए क्या करना चाहिए?”

युधिष्ठिर के इस सवाल के जवाब में श्रीकृष्ण ने उन्हें बताया कि कुछ वस्तुएं ऐसी हैं जिनका घर में होना दरिद्रता को आने से रोकता है। आइए जानते हैं क्या हैं वे वस्तुएं।Bhagwaan Krishan Ne Yudhisthir Ko Bataya Tha Garibi Dur Bhagane Ka Raaz

भगवान कृष्ण ने कहा था कि जिन घरों में प्रतिदिन गाय के घी का दीप दान किया जाता है और उसी घी से भोग-प्रसाद चढ़ाया जाता है, उन घरों पर देवी-देवता अपनी कृपा अवश्य बरसाते हैं। ऐसा होने पर उन घरों में दरिद्रता का वास कभी नहीं होता।

घर आए मेहमान को सबसे पहले पानी देने से अशुभ ग्रह टल जाते हैं, इसलिए जब भी कोई घर में आए तो उसे पहले पीने के लिए पानी दें।

Advertisement

पुराणों में शहद को बेहद पवित्र माना गया है, यह घर की नकारात्मक ऊर्जा को हटाकर वहां सकारात्मक ऊर्जा को स्थापित करने का कार्य करता है। इसीलिए घर में शहद का होना अनिवार्य है।

भगवान कृष्ण ने युधिष्ठिर को बताया था कि सौरमंडल के ग्रह मनुष्य के जीवन को बहुत प्रभावित करते हैं। प्रत्येक दिन व्यक्ति ग्रहों के हिसाब से अपने माथे पर तिलक लगाता है तो यह शुभ फल प्रदान करता है।

चंदन के तिलक को सबसे शुभ माना गया है, इसे माथे पर लगाने से शीतलता मिलती है और पापों का भी नाश होता है। घर में चंदन रखना भी शुभ माना गया है, इसकी खुशबू से नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है।

ज्ञान, बुद्धि और संगीत की देवी माने जाने वाली देवी सरस्वती के हाथ में वीणा अवश्य रहती है। पुराणों के अनुसार देवी सरस्वती को कमल के फूल पर बैठे और हाथ में वीणा पकड़े दिखाया गया है। कमल का फूल कीचड़ में खिलता है लेकिन कीचड़ उसे छू भी नहीं पाता।

Advertisement

कमल पर बैठी मां सरस्वती अपने हाथ में वीणा रखती हैं, ये इस बात को दर्शाता है कि हम चाहे कितने भी बुरे और नकारात्मक हालातों में रहें लेकिन हमें अपने ज्ञान के प्रकाश को हमेशा प्रज्वलित रखना चाहिए।

वीणा को देवी सरस्वती का ही रूप माना जाता है इसीलिए इसका घर में होना काफी लाभदायक सिद्ध होता है।

उपरोक्त बातें श्रीकृष्ण ने स्वयं युधिष्ठिर को बताई थीं, निश्चित तौर पर इनका अनुसरण कर हम जीवन की बहुत सी परेशानियों से मुक्ति पा सकते हैं।

Advertisement