BHU में क्लास में घुसकर खींचे बाल, मारे थप्पड़

Advertisement

वाराणसी.वाराणसी में पिछले दिनों काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में छात्रा के साथ हुई छेड़छाड़ का मामला अभी पूरी तरह से शांत भी नहीं हुआ है कि बीएचयू में एक और छात्रा के साथ छेड़छाड़ की घटना सामने आई है.

बीएचयू के समाजशास्त्र विभाग में गुरुवार को कथित तौर पर एक छात्रा के साथ छेड़खानी और मारपीट हुई है.

Advertisement

इसके बाद पीड़ित छात्रा मामले की शिकायत करने प्रॉक्टोरियल बोर्ड के पास पहुंची.गुरुवार शाम को यहां क्लास में विवि में पढ़ने वाले छात्र ने एक छात्रा से छेड़छाड़ की वारदात को अंजाम दिया.देश के प्रतिष्ठित बनारस हिंदू विश्वविद्याल में एक बार फिर छेड़छाड़ का मामला सामने आया है.

गुरुवार को यहां क्लास में एक छात्रा से पहले छेड़छाड़ और मारपीट की गई. जैसे ही इस बारे में सबको खबर हुई, तो कैंपस में अफरा-तफरी मच गई. पीड़िता ने पास के थाने में शिकायत दी, जिसके बाद आरोपी छात्र गिरफ्तार किया गया. वह भी विश्वविद्यालय में पढ़ता है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, छेड़छाड़ एम.ए थर्ड सेमेस्टर में पढ़ने वाली छात्रा से समाजशास्त्र विभाग में हुई है. उसका आरोप है कि एम.ए के छात्र शीतला गौंड ने उसे क्लास से बाहर उसे अपनी तरफ खींचा था। उसने विरोध किया, तो आरोपी ने थप्पड़ मार दिया.

हाथ से मोबाइल छीनकर जमीन पर पटक दिया. मामले की शिकायत पीड़िता ने फौरन प्रॉक्टर से की. फिर लंका थाने जाकर इस संबंध में तहरीर दी.शिकायत के मुताबिक छात्रा के साथ क्लास रूम में घुसकर मारपीट भी की गई.

Advertisement
learn ms excel in hindi

वाराणसी की लंका थाना पुलिस ने पीड़ित छात्रा की अर्जी पर एफआईआर दर्ज की है। साथ ही पुलिस ने बीएचयू के आरोपी छात्र को इस मामले में गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन विभाग का छात्र बताया जा रहा है.

वहीं पिछले दिनों छात्राओं द्वारा छेड़खानी की शिकायत के मामले पर घटना की जांच के लिए राष्ट्रीय महिला आयोग की टीम बीएचयू पहुंची है. बहरहाल, हाल ही में छात्रा के साथ हुई छेड़खानी के मामले में  प्रबंधन हालातों को देखते हुए सख्त ऐक्शन ले सकता है.

काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में पिछले दिनों हुए बवाल के बाद सुरक्षा की दृष्टि से कई कदम उठाए गए हैं. 100 साल के इतिहास में पहली बार सुरक्षा बेड़े में महिला सुरक्षाकर्मियों को शामिल किया गया. बीएचयू में सुरक्षा पर सालाना करीब 14 करोड़ रुपये खर्च होता है.

Advertisement