बिहार सरकार से कोई आदेश नहीं: आरजेडी नेता ने वाहन से लाल बीकन नहीं हटाया

बिहार से एक नया मामला आया है, नेता की गाड़ी से लाल बत्ती न हटाने का| प्रधानमंत्री मोदी के आदेश से इनकार करते हुए कहा गया कि सभी लोगों के बराबर कैसे? सोमवार को राष्ट्रीय जनता दल के नेता भाई बिरेंद्र ने अपने वाहन के ऊपर एक लाल बीकन हटाने से इंकार कर दिया| जिसमें कहा गया कि बिहार सरकार ने यह आदेश नहीं दिया था।

केवल बिहार राज्य सरकार का ही फैसला मानेंगे

कौन सी कैबिनेट इस पर फैसला कर रही है, क्यों बिहार दिल्ली के मंत्रिमंडल के किसी भी फैसले का पालन करेगा। अगर हमारी बिहार राज्य सरकार इस आदेश को पारित करेगी तो हम केवल नियम का पालन करेंगे। मैं अपनी कार से लाल बीकन नहीं हटाऊंगा, राजद नेता भाई बिरेंद्र ने एक समाचार एजेंसी को बताया|

प्रधानमंत्री मोदी सरकार ने 1 मई से केंद्रीय और राज्य मंत्रियों और अन्य वीवीआईपी सहित गणमान्य व्यक्तियों से जुड़ी वाहनों पर लाल बीकन का इस्तेमाल प्रतिबंधित कर दिया। प्रतिबंध केंद्रीय मंत्रियों, मुख्यमंत्रियों, राज्य कैबिनेट मंत्रियों, नौकरशाहों और उच्च न्यायालय और सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों पर लागू होता है। पिछले रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नया भारत वीआईपी के बारे में नहीं है| लेकिन ईपीआई के बारे में – प्रत्येक व्यक्ति महत्वपूर्ण है|

केवल बिहार राज्य सरकार का ही फैसला मानेंगे

अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात के 31 वें संस्करण में बोलते हुए, उन्होंने आगे कहा कि लोगों ने देश में वीआईपी संस्कृति के लिए एक नकारात्मक मानसिकता विकसित की है। हमारे देश में लोग वीआईपी संस्कृति को पसंद नहीं करते| मुझे हाल ही में पता चला कि यह कितना तीव्र है इसलिए सरकार ने मंत्रियों के वाहन के ऊपर लाल बीकॉन का इस्तेमाल करने पर प्रतिबंध लगा दिया है| चाहे कितना प्रमुख नेता हों- प्रधानमंत्री ने कहा। लाल बीकन पर प्रतिबंध वापस नहीं लिया जायेगा| प्रधानमंत्री मोदी ने पहले कहा था कि हर भारतीय विशेष और वीआईपी है| हमारे यहाँ प्रत्येक भारतीय खास है|