इस साल चार धाम यात्रा में श्रद्धालुओं ने बनाया रिकॉर्ड

देहरादून: उत्तराखंड सरकार के एक अधिकारी ने बुधवार को कहा कि सालाना ‘चार धाम यात्रा‘ के लिए तीर्थयात्रियों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। 2013 की बाढ़ में यहाँ हजारों लोग मारे गए थे| फिर भी भक्तो की संख्या तीर्थयात्रा के लिए पिछले कुछ वर्षों में दुगुनी हो रही है।

प्राकर्तिक आपदा आने के कारण यहाँ लोगो में काफी डर बना हुआ था| सड़के टूट गई थी, आने-जाने के रास्ते मुश्किल बन गए थे| 2017 में एक बदलाव हुआ है और केवल पहले दस दिनों में 2.21 लाख तीर्थयात्रियों ने बद्रीनाथ-केदारनाथ तीर्थ स्थलों का दौरा किया है – अधिकारी ने बताया। इन 1,23,285 श्रद्धालुओं ने बद्रीनाथ मंदिर में आकर भगवान विष्णु के दर्शन किये| वहीँ 97,815 श्रद्धालुओं ने केदारनाथ मंदिर में श्रद्धांजलि अर्पित की है| जो देश के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। सुखद मौसम और बेहतर व्यवस्था, अधिकारियों ने आईएएनएस को बताया, संख्या में वृद्धि का महत्वपूर्ण कारण है|

इस साल चार धाम यात्रा में श्रद्धालुओं ने बनाया रिकॉर्ड

बेहतर सुविधा ने बधाई श्रद्धालुओं की संख्या चार धाम यात्रा में

पिछले दो दिनों में लगभग 10,000 तीर्थयात्रियों ने रुद्रप्रयाग से केदारनाथ मंदिर का दौरा किया| जबकि 7,000 भक्त गौरीकुंड से तीर्थस्थल की तरफ पैदल चल रहे थे। बड़ी संख्या में तीर्थयात्रियों ने केदारनाथ से हेलिकॉप्टर सेवा भी प्राप्त की है| जो नागरिक उड्डयन महानिदेशक (डीजीसीए) से देर से मंजूरी के कारण कुछ देरी से शुरू हुआ था। संख्या में स्पाइक पर खुशी व्यक्त करते हुए श्री बद्री केदार श्राइन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी बी.डी. सिंह ने कहा कि पिछले दस दिनों में दर्ज की गई संख्या पिछली बार के सभी नम्बरो को पार कर गई है।

2013 के बाद से यह पहली बार है, कि पखवाड़े में ‘चार धरम यात्रा’ करने वाले तीर्थयात्रियों की संख्या तीन लाख पार कर गई है, सिंह ने कहा। अन्य दो मंदिरों – यमुनोत्री और गंगोत्री में भी बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं का आगमन हो रहा है। पखवाड़े में 60,000 से अधिक तीर्थयात्रियों ने यमुनोत्री का दौरा किया है, जबकि 71,000 से अधिक गंगोत्री में दर्शन करने आए है।