बीजिंग. चीन अपनी रक्षा नीति को लेकर हमेशा कुछ अनूठा काम करता रहता है, जिससे विश्व को आश्चर्य होता है.चीन ने मैजिक आइलैंड मेकर के नाम से एक बड़ा शिप बनाया है.इस विशाल शिप को पिछले हफ्ते पूर्वी जिआंगसु के बंदरगाह पर लांच किया.ये फिलहाल एशिया का सबसे बड़ा शिप है.

इस शिप के जरिए कहीं भी अर्टिफिशियल आइलैंड बनाया जा सकता है.चीन ने इसे 2015 में बनाया था. ‘तिआनकुन हाओ’ नाम का ये बड़ा शिप 460 फ़ीट लम्बा और 27.8 फ़ीट चौड़ा है. ये समुद्र के अंदर 115 फ़ीट की गहराई तक खुदाई कर सकता है.

इस जहाज़ में सिर्फ एक घंटे में 6,000 क्यूबिक मीटर यानी तीन स्विमिंग पूल के बराबर खुदाई करने की क्षमता है. चीनी मीडिया के अनुसार 2015 में तिआनजिंग शिप ने 18 महीने में सात अर्टिफिशियल आइलैंड बनाए थे.चीन ने इस पोत का निर्माण दक्षिणी चीन सागर में किया है.

लेकिन ‘तिआनकुन हाओ’ से तुलना की जाए तो ये 1.3 गुना ज़्यादा पॉवर फुल है. ये एक साल में नौ अर्टिफिशियल आइलैंड बना सकता है. 2018 जून में ‘मैजिक आइलैंड मेकर’ शिप का काम पूरा हो जाएगा.दक्षिण चीन सागर को लेकर चीन के कई पड़ोसी देशों से विवाद भी चल रहा हैं.और चीन पूरे दक्षिण चीन सागर पर अपना दावा करता है।