जब मोदी लाल किले से भाषण दे रहे थे तब चीनी सैनिक भारत में घुसपैठ कर रहे थे

भारत के प्रधानमन्त्री जब 15 अगस्त को लाल किले से भाषण दे रहे थे तब लद्दाख के पानगोंग झील के किनारे चीनी सैनिक भारत में घुसपैठ करने की कोशिश कर रहे थे जिसपर भारतीय सैनिकों से उनकी हाथापाई हुई. खबर है कि चीनी सेना ने भारतीय सैनिकों के ऊपर पत्थर भी फेंके.

xi-modi

पानगोंग झील के किनारे की घटना 135 किलोमीटर झील के फिंगर-6 के करीब सुबह 7.30 बजे हुई। इस झील का एक-तिहाई हिस्सा भारत के नियंत्रण में है, बाकी चीन के। भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच मारपीट और झड़प हुई लेकिन गोली नहीं चली। सूत्रों के अनुसार झील के चीनी हिस्से के किनारे बनी सड़क पर 52 ट्रक खड़े देखे गए। हालांकि शाम तक वो ट्रक वहां से चले गए। हालाँकि भारतीय सेना ने इस घटना पर किसी तरह का कमेंट करने से इनकार किया।

भारत और चीन के बीच टेंशन इस कदर बढ़ गयी है कि चीनी सेना ने कल भारतीय स्वतंत्रता दिवस में शामिल होने से इंकार कर दिया. हर साल चीनी सेना पीएलए के स्थापना दिवस एक अगस्त को होने वाली वार्षिक बैठक भी इस साल नहीं हुई। साल 2005 के बाद यह पहली बार हुआ है कि दोनों देशों की सालाना बैठक नहीं हुई हो.

भारतीय सेना के सूत्र ने बताया कि परंपरा के अनुरूप भारतीय सेना ने इस बार भी चीनी सेना को आमंत्रित किया था लेकिन चीनियों की तरफ से कोई जवाब नहीं आया। चीनी डोकलाम के करीब नाथू ला समेत अन्य चार बैठक स्थलों पर होने वाली वार्षिक बैठक में नहीं शामिल हुए।