Class 9 Vilom Shabd विलोम शब्द Sparsh Chapter wise CBSE

Advertisements

List of Topics

Class 9 Vilom Shabd विलोम शब्द Sparsh Chapter wise CBSE

यहाँ पर हम कक्षा 9 के विद्यार्थियों के लिए हिंदी स्पर्श पुस्तक के विभिन्न पाठों में आये हुए विलोम शब्द का अर्थ और वाक्य प्रयोग स्पष्ट कर रहे हैं ताकि छात्र परीक्षा में पूछे जाने पर इन विलोम शब्द के प्रश्न में पूर्ण अंक प्राप्त कर सकें।

Advertisements

स्पर्श भाग 1 विलोम शब्द पाठ 1 धूल (Class 9 Vilom Shabd विलोम शब्द Chapter wise CBSE)

सुंदर – कुरूप

सुंदर – उसका चेहरा बहुत सुंदर है।

Advertisements

कुरूप – इसका चेहरा कितना कुरूप हो गया है।

पसंद – नापसंद

पसंद – मैं पिज्जा कहना पसंद करूंगा।

नापसंद – नए गाने मुझे बिल्कुल नापसंद है।

बचपन – बुढ़ापा

बचपन – मेरा बचपन बहुत आराम  में बीता ।

बुढ़ापा – असमय ही उसे बुढ़ापा आ गया है।

कल्पना – वास्तविकता

कल्पना – कल्पना की उड़ान बहुत तेज होती है।

वास्तविकता – हमे वास्तविकता में ही जीना चाहिए।

सहज – असहज

सहज – उसकी बातों पर सहज विश्वाश नहीं होता।

असहज – बदले हुए माहौल में वह अटपटा महसूस कर रहा था।

आसमान  – जमीन

आसमान – आसमान लाल हो रहा था।

जमीन – हमें अपनी जमीन नहीं छोड़नी चाहिए।

नकली – असली

नकली – इस दुकान पर नकली सामान मिलता है।

असली – वह असली हीरो का व्यापारी है।

दुर्भाग्य – सौभाग्य

दुर्भाग्य – दुर्भाग्य उसके पीछे  पड़ा है।

सौभाग्य – सौभाग्य से तुम मुझे मिल गए हो।

 

स्पर्श भाग 1 विलोम शब्द पाठ 2 दुख का अधिकार (Class 9 Vilom Shabd विलोम शब्द Chapter wise CBSE)

अधिकार – कर्तव्य

अधिकार – धीरे धीरे उसने पूरे घर पर अधिकार कर लिया।

कर्तव्य – माता पिता की सेवा करना हमारा कर्तव्य है।

खास – आम

खास – आज की मीटिंग की खास बात क्या रही।

आम – यह आम रास्ता नहीं है।

विक्री – खरीद

विक्री – आज एक रुपये की भी विक्री नहीं हुई।

खरीद – वह दुकानदार खरीद मूल्य पर सामान बेचता है।

व्यवधान – समाधान

व्यवधान – वह जब तब मेरे काम में व्यवधान डालता रहता है।

समाधान – मैंने इस समस्या का समाधान ढूंढ लिया है।

धर्म – अधर्म

धर्म – मैं अपने धर्म पर तिक रहूँगा।

अधर्म – आज सभी जगह अधर्म का बोलबाला है।

विष – अमृत

विष – उसके शरीर में विष फैल गया।

अमृत – अमृत पीकर कोई नहीं मरता।

 

स्पर्श भाग 1 विलोम शब्द पाठ 3 – एवरेस्ट: मेरी शिखर यात्रा (Class 9 Vilom Shabd विलोम शब्द Chapter wise CBSE)

अग्रिम – पश्च

अग्रिम – अग्रिम दल के सदस्य आगे चल रहे थे।

पश्च – वह जुलूस के सबसे पश्च चल रहा था।

दुर्गम – सरल

दुर्गम – वह दुर्गम रास्तों पर आगे बढ़ रहा था।

सरल – उसने सरल मससर्ग का चुनाव किया।

विचित्र – सामान्य

विचित्र – उसका पहनावा बहुत विचित्र है।

सामान्य – उसका आचरण बिल्कुल सामान्य है।

अवसाद – प्रसन्नता

अवसाद – वह अवसाद के कारण परेशान रहता है।

प्रसन्नता – परीक्षा परिणाम सुनते ही उसकी प्रसन्नता का ठिकाना न रहा।

तत्काल – विलंब

तत्काल – तत्काल इलाज न मिलने से उसकी मृत्यु  हो गई।

विलंब – गाड़ी आज विलबं से चल रही है।

आरोही – अवरोही

आरोही – कई आरोही उस रास्ते पर अअ रहे थे।

अवरोही – संखयाओं को अवरोही क्रम में लिखो।

विश्वाश – अविश्वाश

विश्वाश – मुझे तुम पर पूरा विश्वाश है।

अविश्वाश – मुझे तुम्हारी बातों पर अविश्वाश हो रहा है।

आपूर्ति – पूर्ति  

आपूर्ति – इस इलाकेमें बिजली आपूर्ति बहुत कम है।

पूर्ति – इस इलाके में बिजली की पूर्ति जल्द की जाएगी।

प्रोत्साहित – हतोत्साहित

प्रोत्साहित – उसकेमाता पिता हमेशा उसे प्रोत्साहित करते है।

हतोत्साहित – मैं तुम्हारी बातों से हो गया हूँ।

 

स्पर्श भाग 1 विलोम शब्द पाठ 4 – तुम कब जाओगे अतिथि (Class 9 Vilom Shabd विलोम शब्द Chapter wise CBSE)

आगमन – गमन

आगमन – आज मेरे घर एक अतिथि का आगमन हुआ है।

गमन – आज हमारा दिल्ली गमन अवश्य होगा।

निस्संकोच – संकोच

निस्संकोच – वह निस्संकोच मेरे पास आता है।

संकोच – मुझे तुम्हारे घर आने में संकोच हो रहा है।

अज्ञात – ज्ञात

अज्ञात – एक अज्ञात भय मेरे अंदर समाया है।

ज्ञात – मझे आज एक नई बात ज्ञात हुई।

प्रदान – आदान

प्रदान – आज उसे पारितोषिक प्रदान किया जाएगा।

आदान – वस्तुओं का आदान प्रदान चलता रहता है।

अप्रत्याशित – आशानुकूल

अप्रत्याशित – यह घटना मेरे लिए अप्रत्याशित है।

आशानुकूल – उसका परीक्षा परिणाम आशानुकूल है।

मानव – दानव

मानव – आज मानव विकास के पथ पर अग्रसर है।

दानव – दानवों ने देवताओं को बहुत परेशान किया था।

निर्मूल – समूल

निर्मूल – उसकी बात निर्मूल सिद्ध हुई।

समूल – भूकंप ने उसका समूल नष्ट कर दिया।

 

स्पर्श भाग 1 विलोम शब्द पाठ 5 – वैज्ञानिक चेतना के वाहक चंद्र शेखर वेंकट रामन (Class 9 Vilom Shabd विलोम शब्द Chapter wise CBSE)

विराट – सूक्ष्म

विराट – ईश्वर का स्वरूप बहुत विराट है।

सूक्ष्म – उसका विचार बहुत सूक्ष्म है।

उपस्थित – अनुपस्थित

उपस्थित – उपस्थित आज कक्षा में सभी छात्र उपस्थित है।

अनुपस्थित – आज प्रधान जी अनुपस्थित है।

स्वाभाविक – अस्वाभाविक

स्वभाविक – वह अपनी स्वभाविक मौत मरा  है।

अस्वाभाविक – ऐसी अस्वभाविक प्रतिक्रिया का कारण जान सकता हूँ।

आकृष्ट – निकृष्ट

आकृष्ट – वह मेरी ओर आकृष्ट हो रहा है।

निकृष्ट – उसका आचरण बहुत निकृष्ट है।

प्रकाश – अंधकार

प्रकाश – ज्ञान का प्रकाश उसके अंदर जाग्रत हो  रहा है।

अंधकार – धीरे धीरे अंधकार गहराता जा रहा हैं ।

प्रत्यक्ष – परोक्ष

प्रत्यक्ष – वह प्रत्यक्ष वहाँ खड़ा है।

परोक्ष – वह परोक्ष में बहुत कुछ कह  देता है।

उपयोगी – अनुपयोगी

उपयोगी – उपयोगी सामान यहाँ बहुतायत में मिलता है।

अनुपयोगी – ये वस्तुएँ मेरे लिए अनुपयोगी है।

कृत्रिम  – प्राकृतिक

प्राकृतिक – वह प्राकृतिक सौन्दर्य की स्वामिनी है।

कृत्रिम – कृत्रिम सांस पर जीवित है।

जाग्रत  – सुप्त

जाग्रत – गांधीजी ने भारतीय चेतना को जाग्रत किया ।

सुप्त – सरस्वती नदी सुप्त हो गई है।

शाकाहारी  – मांसाहारी

शाकाहारी – शाकाहारी को शुद्ध माना गया है।

मांसाहारी – मांसाहारी व्यक्ति को अधम माना गया है।

 

स्पर्श भाग 1 विलोम शब्द पाठ 6 – कीचड़ का काव्य (Class 9 Vilom Shabd विलोम शब्द Chapter wise CBSE)

यथार्थ  – काल्पनिक

यथार्थ – कुछ घटनाएं यथार्थ नहीं लगती।

काल्पनिक – इस नाटक के सभी पात्र काल्पनिक है।

प्रसन्नता  – खिन्नता

प्रसन्नता – मुझे यह जान कर बहुत प्रसन्नता हुई।

खिन्नता – मुझे तुम्हारी खिन्नता का कारण नहीं पता।

उत्तर  – अनुत्तर

उत्तर – मुझे तुम्हारा उत्तर पता था।

अनुत्तर – मैं तुम्हारे इस बात से अनुत्तर हो गया।

मूल्य  – अमूल्य

मूल्य – मुझे इसका मूल्य नहीं पता।

अमूल्य – यह वस्तु अमूल्य है।

ज्यादा  – कम

ज्यादा – आज उसने बहुत ज्यादा पी रखी है।

कम – वह बहुत कम आता है।

खूबसूरत  – बदसूरत

खूबसूरत – उसका परिधान बहुत खूबसूरत है।

बदसूरत – उसकी पत्नी बहुत बदसूरत है।

पसंद  – नापसंद

पसंद – मैं तुम्हें बिल्कुल पसंद नहीं करता।

नापसंद – तुम्हारा यहाँ आना मुझे नापसंद है।

 

स्पर्श भाग 1 विलोम शब्द पाठ 7 – धर्म की आड़ (Class 9 Vilom Shabd विलोम शब्द Chapter wise CBSE)

बुराई  – अछाई

बुराई – हमें बुराइ से बचना चाहिए ।

अच्छाई – तुम्हारी अच्छाइ तुम्हें ले डूबेगी ।

सुगम  – दुर्गम

सुगम – यह काम इतना सुगम नहीं है।

दुर्गम – दुर्गम पहाड़ियों को पारकर वहाँ पँहुचना होता है।

गरीब  – अमीर

गरीब – गरीबों पर दया करना चाहिए।

आमीर – अमीरों का कोई भरोसा नहीं है।

मूर्ख  – ज्ञानी

मूर्ख – मूर्ख को समझना आसान नहीं।

ज्ञानी – ज्ञानी का हर जगह सम्मान होता है।

धूर्त  – चालाक

वह – वह एक धूर्त व्यक्ति है।

चालाक – चालाक मनुष्य कभी कभी न जरूर धोखा खाता है।

आत्मा  – परमात्मा

आत्मा – आत्मा सदैव अमर है।

परमात्मा – मोक्ष के बाद हि परमात्मा से मिलन संभव है।

सदाचार  – कदाचार

सदाचार – सदाचार का गुण एक नैतिक गुण है।

कदाचार – परीक्षा में कदाचार बढ़त जा रहा है।

आजाद  – गुलाम

आजाद – आज वह वर्षों के चुंगल से आजाद हुआ।

गुलाम – कर्जे के कारण रमेश ने उसे गुलाम बना लिया।

सुख  – दुख

सुख – आज वह बहुत सुख का अनुभव कर रहा है।

दुख – यह जानकर मुझे बहुत दुख हुआ।

 

स्पर्श भाग 1 विलोम शब्द पाठ 8 – शुक्रतारे के समान (Class 9 Vilom Shabd विलोम शब्द Chapter wise CBSE)

आधुनिक  – प्राचीन

आधुनिक – उसका व्यक्तित्व अत्यंत आधुनिक है।

प्राचीन – यह मंदिर बहुत प्राचीन है।

अधिक  – कम

अधिक – आज मंदिर में अधिक भीड़ है।

कम – आज भक्तों की संख्या कम है।

संक्षिप्त  – विस्तृत

संक्षिप्त – यह जानकारी अत्यंत संक्षिप्त है।

विस्तृत – मुझे विस्तृत जानकारी चाहिए।

गुण  – अवगुण

गुण – उसके अंदर सच्चाई का एक बडा गुण है।

अवगुण – यह  तुम्हारा सबसे बडा अवगुण है।

आग्रह  – अनाग्रह

आग्रह – उन्होंने मेरा आग्रह अस्वीकार कर दिया।

आदेश – यह आदेश मेरा था।

विशाल  – लघु

मैदान – मैदान बहुत विशाल था।

लघु – यह एक लघु क्षेत्र है।

निर्मल  – मलिन

निर्मल – सुबह का वातावरण एकदम निर्मल होता है।

मलिन – उसने मलिन वस्त्र पहन रखा है।

सुबह  – शाम

सुबह – आज मैं सुबह ही जग गया था।

शाम – शाम को मैं जल्दी आऊँगा।

प्रतिकूल  – अनुकूल

प्रतिकूल – परिस्थितियों का सामना करना उसे आता है।

अनुकूल – आज मौसम एकदम अनुकूल है।

मृत्य  – जन्म

मृत्य – मृत्य के घर विलाप हो रहा है।

जन्म – आज श्री कृष्ण का जन्म मनाया जाएगा।

अनायास  – सायास

अनायास – अनायास ही वह यहाँ आ गया।

सायास – सायास प्रयास से सब संभव हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.