कहाँ जाऊं ?

Advertisement

अब कितना मुस्कुरा कर दर्द को छुपाऊ
अपने ग़मो में बस यूँ ही ऐसे खो जाऊं

सहन नहीं होता ज़िन्दगी तेरे दूरियों का मंज़र
बता कोई ऐसी जगह जहाँ तनहा ही जा के रो आऊं

Advertisement

facebook.com/hamarikalamsei

Advertisement

Instagram.com/hamarikalamsei

Advertisement