दरगाह के चंदे से हो रही है आतंकियों की मदद, रिपोर्ट्स से खुलासा

Advertisement

नई दिल्ली: पाकिस्तान भारत में आतंक फ़ैलाने के लिए दरगाह का सहारा ले रहा है| पाकिस्तान इस नीचता पर उतर आएगा किसी ने सोचा भी नहीं था| खुदा का घर कहे जाने वाले स्थानों से भी अब आतंक की मदद की जा रही है| मिडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई भारत में आतंक फ़ैलाने के लिए दरगाह का सहारा ले रहे है|

दरगाह के चंदे से हो रही है आतंकियों की मदद

दरगाह के चंदे से फैलाया जा रहा है आतंक

टाइम्स ऑफ़ इण्डिया की रिपोर्ट्स के अनुसार भारतीय ख़ुफ़िया एजेंसी ने जासूस दीना खान को पकड़ा था| उसने यह खुलासा किया है कि दरगाह में दान पेटी में जो पैसे आते है| उन्हें बॉर्डर पर बैठे आतंकियों की मदद के लिए भेजा जा रहा है| उसने अधिकारियो को बताया वो खुद बाड़मेर की एक दरगाह का प्रभारी था| उसने कबूल किया कि उसने एक बार तो 3.5 लाख चंदे के रूपए आतंकियों की मदद के लिए भेजे थे| उसने बताया कि उसे सीधा पाकिस्तान के जासूसों से हुक्म मिलता था कि किसे कितने पैसे देने है|

Advertisement

भारतीय ख़ुफ़िया एजेंसी की इस रिपोर्ट से यह तो साफ हो रहा है कि पाकिस्तान की पुरानी चाल कामयाब नहीं हो रही है| अब एजेंसियों को इस बात की परेशानी सता रही है कि अगर यह रास्ता भारत में हिट हो गया| तो यहाँ उनपर काबू पाना बेहद मुश्किल होगा| भारत के अंदर अनगिनत मजारे है| जहाँ लाख लोग रोज आते-जाते है| वो लोग वहां चंदा भी देते है| अब रिपोर्ट्स से खुलासा हो रहा है कि इस चंदे का उपयोग भारत में ही आतंक फ़ैलाने के लिए किया जा रहा है| एजेंसियों के दीना खान के बयान पर जाँच शुरू कर दी है| जितनी भी बड़ी-बड़ी मजारे है,उनपर तीखी नजर राखी जा रही है|

Advertisement