दाऊद इब्राहिम परिवार की शादी में महाराष्ट्र के मंत्री, सांसदों से लेकर पुलिस भी पहुंची

नासिक: सोमवार को महाराष्ट्र के नासिक में एक विवाह में एक राज्य मंत्री, कई सांसद और पुलिसकर्मी शामिल थे। वे अब बड़ी मुश्किल में आ गए क्योंकि शादी आतंकवादी दाऊद इब्राहिम के परिवार से थी| दाऊद इब्राहिम भारत मे कई वर्षो से मोस्ट वांटेड है|

दाऊद इब्राहिम परिवार की शादी में महाराष्ट्र के मंत्री, सांसदोंसे लेकर पुलिस भी पहुंची

महाराष्ट्र के मेडिकल एजुकेशन मिनिस्टर गिरीश महाजन और कई विधायकों ने दाऊद की बहू के परिवार द्वारा आयोजित शादी की पार्टी में भाग लिया। नासिक पुलिस प्रमुख रवींद्र सिंघल ने अतिथि सूची में पुलिसकर्मियों की जांच का आदेश दिया है। दुल्हन की मां की शादी दाऊद के भाई इब्राहिम कास्कर से हुई थी। चार पुलिस निरीक्षकों और एक सहायक पुलिस आयुक्त सहित 10 पुलिसकर्मियों की जांच हो रही है। शहर के महात्मा नगर इलाके में एक मॉल में शादी की गई थी। दूल्हा एक राजनेता का बेटा हैं|

महाराष्ट्र के नासिक पुलिस प्रमुख ने दिए जांच के आदेश

पुलिसकर्मियों ने दावा किया है कि उन्हें मुस्लिम मौलवियों द्वारा आमंत्रित किया गया है। उन्होंने कहा हमें निमंत्रण दूल्हे से जुड़े हुए मौलवियों से आया था| हमने रिपोर्ट जमा कर दी है। पुलिस को दुल्हन के परिवार द्वारा आमंत्रित नहीं किया गया था| उन्हें शाहर-ए-खटीब, एक मुस्लिम समुदाय के नेता ने आमंत्रित किया था और यही वजह है कि वे चले गए हैं। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी लक्ष्मीकांत पाटिल ने मिडिया को बताया|

पुलिस प्रमुख ने कहा है कि शादी के फुटेज की जांच की जा रही है और जो पुलिसकर्मी मौजूद थे| उनसे पूछताछ की गई है और उनके बयान दर्ज किये गए हैं। सिंहल ने कहा, अधिकारियों के खिलाफ आंतरिक जांच पूरी करने में दो दिन लगेंगे क्योंकि उनमें से कुछ छुट्टी पर हैं। उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मी शहर के लिए सुरक्षा प्रदान करने में भी शामिल थे| जहां नगर निगम के चुनाव कल हुए थे|

भारत ने कई वर्षों से दाऊद इब्राहिम का पीछा किया| मुंबई में 1993 के सीरियल बम धमाकों की साजिश रचने के आरोप में अंडरवर्ल्ड डॉन फरार है| इस बम ब्लास्ट में 257 लोग मारे गए और 700 घायल हो गए थे। दाऊद पर अन्य आतंकवादी हमलों का मास्टरमाइंड होने का भी आरोप है| मनी लॉन्डरिंग और जबरन वसूली के कई आरोप भी है। भारत और अमेरिका का मानना ​​है कि वह अल कायदा और लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकवादी समूहों को वित्तपोषित करता हैं।