योगी के गोरखपुर में पिछले 5 दिनों में 60 मौतें, पर इस लापरवाही का जिम्मेदार कौन?

योगी के सांसदीय क्षेत्र गोरखपुर में पिछले 5 दिनों में 60 लोगों की मौतें हो चुकी हैं और अस्पताल प्रशासन अपनी नाकामी छुपाने में लगा हुआ है. आपको बता दें की पिछली रात को ही आक्सीजन की सप्लाई बंद हो जाने से 30 बच्चों की मृत्यु हो गयी. जबकि अस्पताल प्रशासन इस पूरे घटना को दिमागी बुखार बता कर कन्नी काट रहा है.

child dead in gorakhpur

आपको बता दें कि गोरखपुर के बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज में पिछली रात को अचानक से 30 बच्चों की मौत हो गयी. जिसकी वजह अस्पताल में ऑक्सीजन की सप्लाई का अचानक ख़त्म हो जाना बताया जा रहा है.

लोगों की मानें तो अस्पताल में ऑक्सीजन की सप्लाई ख़त्म हो गयी थी जिसकी वजह वेंडर की पेमेंट का न होना था. बताया जा रहा है कि ऑक्सीजन की सप्लाई करने वाले वेंडर को 70 लाख रूपए की पेमेंट नहीं की गयी थी जिसकी वजह से सप्लाई काट दी गयी और ऐसा हादसा हुआ.

ऑक्सीजन की सप्लाई करने वाले पुष्पा सेल्स के दीपांकर शर्मा ने बताया की अस्पताल प्रशासन को कई बार बकाया पूरा करने की नोटिस दी गयी. कंपनी की शर्तों के अनुसार बकाया 10 लाख से अधिक नहीं होना चाहिए जबकि अस्पताल प्रशासन ने 68,58,596 रूपए का बकाया रोक कर रखा हुआ था . बार बार कहने पर जब कार्यवाही नहीं हुई तब कंपनी ने ऑक्सीजन की सप्लाई रोक दी.

परन्तु जब ऑक्सीजन की कमी से एक एक कर के बच्चों की मृत्यु की खबर आने लगी तब अस्पताल प्रशासन हरकत में आया और आनन् फानन में कंपनी को 22 लाख का चेक जारी किया गया जिसके बाद कंपनी ने ऑक्सीजन टैंकर भेजने की बात कही है.

हालाँकि आपको बता दें की BD हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की सप्लाई काटने की यह पहली खबर नहीं है. इससे पहले भी अप्रैल में भी ऐसी ही घटना हो चुकी है जब बकाया 50 लाख से अधिक पहुँचने पर ऑक्सीजन की सप्लाई काट दी गयी थी.