Advertisement

देश की राजधानी दिल्ली की हवा ज़हर बन रही है,हवा में मौजूद नमी के चलते यही कण स्मॉग में तब्दील हो रहे हैं. और पूरा शहर आज घने कोहरे की चादर में लिपटा है. अगले 2 दिनों तक राहत मिलने की उम्मीद कम है. दो राज्यों से उठने वाला धुआं दिल्ली के लिए घातक बन चुका है। दिल्ली के कई इलाक़ों में एयर क्वालिटी इंडेक्स 400 के पार पहुंच चुका है.

जबकि रविवार सुबह आनंद विहार में पीएम 10 का स्तर 1010 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रिकॉर्ड किया गया। नोएडा और गाज़ियाबाद में भी एयर क्वाटिली इंडेक्टस 400 को पार कर गया है.

अगर मौसम विभाग की माने तो  हवा की रफ़्तार कम है इसीलिए प्रदूषित कण एक जगह ठहरे हैं। अगले 2 दिनों तक राहत मिलने की उम्मीद कम है. अगले 2-3 दिनों तक दिल्ली में ये एयर इमरजेंसी ख़त्म होने वाली नहीं है बल्कि हालत और बदतर होंगे.

दिल्ली में इस धुंध के पीछे पंजाब और हरियाणा से आए धुएं को भी ज़िम्मेदार माना जा रहा है. इंडिया गेट समेत कई इलाक़ों में विज़िबिलटी 200 मीटर से भी कम हो गई है और चिंता की बात ये है कई जगह खतरे के निशान को पार कर गया है.

Advertisement

कई लोगों  परेशान हो रहे हैं लोगो को  आंखों में जलन और सांस लेने में भी तकलीफ हो रही है।ख़तरा देखते हुए  इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने भी दिल्ली सरकार को चिट्ठी लिखकर अपील की है कि सभी स्‍कूलों में बच्चों के आउटडोर गेम्‍स पर तुरंत रोक लगा दी जाए.

दिल्ली में होने वाली हाफ मैराथन को भी रोक दिया जाए। साथ ही डॉक्टरों ने सुबह के वक़्त मॉर्निंग वॉक को भी बेहद ख़तरनाक बताया है.

जानलेवा हो सकता हैं स्मॉग, स्मॉग से फेफड़े और सांस से जुड़ी गंभीर बीमारी का खतरा बढ़ सकता हैं साथ ही खांसी, जुकाम और सीने में दर्द की समस्या हो सकती है

स्मोग के चलते देखे गए के केस, 2 साल के बड़े बच्चों में अस्थमा की बीमारी बढ़ी.15 साल से छोटे बच्चे ब्रोनकाइटिस बीमारी की चपेट में.

कैसे करे बचाव स्मॉग से?

जहां तक संभव हो बाहर निकलने से बचें.

एक्सरसाइज या योगा घर के अंदर ही करें घर के दरवाजे बंद ही रखें.बाहर निकलें पर तो N-95 लेवल मास्क पहनें सांस की बीमारी वाले इनहेलर दवाई साथ रखें.

Advertisement

Advertisement