दिल्ली में 13 नवंबर से फिर लागू होगा ऑड-ईवन का फॉर्मूला

नई दिल्ली.स्मॉग के क़हर से निपटने के लिए दिल्ली सरकार 13 नवंबर से फिर ऑड इवन फॉर्मूला लागू करने की तैयारी में है दिल्ली में ऑड इवन का यह तीसरा चरण होगा. ये क़दम दिल्ली सरकार ने एनजीटी की फटकार के बाद उठाया है.

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल में गुरुवार सुबह प्रदूषण को लेकर सुनवाई हुई. सुनवाई में एनजीटी ने दिल्ली सरकार, एमसीडी और पड़ोसी राज्यों को भी कड़ी फटकार लगाई है.

एनजीटी के अलावा दिल्ली हाईकोर्ट भी प्रदूषण पर सख्त हो गया है. हाईकोर्ट ने प्रदूषण पर पर्यावरण मंत्रालय को आपात बैठक बुलाने के निर्देश दिए हैं.एनजीटी ने फटकार लगाते हुए कहा कि खुलेआम निर्माण कार्य चल रहा है लेकिन आप लोग रोक नहीं लगा पा रहे हैं.

सरकारी सूत्रों के अनुसार दिल्ली में ऑड इवन फॉर्मूला 13 नवंबर से सख्ती के साथ लागू किया जाएगा.पांच दिन के ऑड इवन का 17 नवंबर को समापन होगा. गर ऑड इवन का ये फॉर्मूला कामयाब रहा तो इसे दोबारा भी लागू किया जाएगा. फिलहाल इसकी आधिकारिक घोषणा होना बाक़ी है.

हालाँकि ऑड ईवन को लेकर दिल्ली के उपराजयपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल बैठक हो चुकी  है.उपराज्यपाल अनिल बैजल ने राज्य परिवहन विभाग को दिल्ली में ऑड ईवन लागू करने की तैयारियां शुरू कर दें. एलजी की सिफारिश के बाद ही दिल्ली सरकार ने ऑड ईवन की तैयारियां युद्ध स्तर पर शुरु कर दी हैं.

एनजीटी की फटकार के बाद ही एमसीडी ने दिल्ली में पेड़ों की पत्तियों पर पानी से छिड़काव किया. एनजीटी की अगले सुनवाई 14नवंबर को होगी,जिसमें दिल्ली-एनसीआर में फ़ैल रहे प्रदुषण को लेकर कड़े फैसले लिए जाएंगे.

उल्लेखनीय हैकि दो दिनों से दिल्ली और एनसीआर इलाके में स्मॉग के कारण हवाएं जहरीली हो गई हैं. प्रदूषण के जो दो मानक है पीएम 2.5 और पीएम 10 दोनों का ही लेवल 500 के पार जा चुका है.