Advertisements

अब आपका मोबाइल बनेगा फोन मेट्रो का टोकन!

दिल्ली मेट्रो में जल्द ही स्मार्टफोन टिकटिंग की सुविधा शुरू करने वाली है. इससे स्मार्टकार्ड नहीं रखने वाले यात्रियों को भी टोकन खरीदने के लिए लाइन में खड़ा नहीं होना पड़ेगा.

Advertisements

डीएमआरसी के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार स्मार्टफोन टिकटिंग को शुरुआत में कुछ स्टेशनों से प्रायोगिक तौर पर शुरू किया जाएगा. नई सुविधा मार्च में होली के आसपास शुरू करने की तैयारी है. स्मार्ट टिकटिंग के लिए मेट्रो अपने मौजूदा ऐप में ही थोड़ा सुधार करेगी. मार्च 2013 में शुरू हुए मेट्रो ऐप में अन्य सुविधाएं पहले की तरह ही काम करती रहेंगी.

खबरों के मुतबिक मेट्रो मोबाइल आधारित स्मार्टफोन टिकटिंग के लिए ऑटोमेटिक फेयर कलेक्शन (एएफसी) और दूसरे सॉफ्टवेयर में बदलाव करेगी. गौरतलब है कि फ्रांस के मेट्रो नेटवर्क में यह सुविधा काफी समय से है. वहीं कोलकाता मेट्रो भी इस सुविधा को जल्द ही अपनाने की तैयारी में है. स्मार्टफोन टिकटिंग का कॉन्सेप्ट सुझाने वाले आईआईटी रुड़की के पूर्व छात्र विराज वर्मा के अनुसार ऐप की एक स्क्रीन में सबकुछ हो जाएगा. वर्मा के अनुसार स्मार्टफोन टिकटिंग सेवा का इस्तेमाल ‘बुक माइ शो’ एप जैसा ही आसान होगा. ऐप पर माई जर्नी मेन्यू में जाकर जानकारी देनी होगी कि कहां की यात्रा करनी है. मोबाइल वॉलेट जैसे इस ऐप पर दूरी के अनुसार किराया कट जाएगा और स्क्रीन पर क्यूआर कोड दिखेगा.
कोड को मेट्रो स्टेशन के गेट पर लगी मशीन में स्कैन करके सामान्य टोकन की तरह यात्रा की जा सकेगी.

Advertisements

इसमें खास बात ये होगी कि अगर मेट्रो में सफर करने के दौरान आपका मोबाइल फोन बंद हो जाए तो भी कोई दिक्कत नहीं होगी. ग्राहक सेवा केंद्र पर मोबाइल नंबर बताने पर एक्जीक्यूटिव मैनुअली बाहर जाने की व्यवस्था कर देंगे.

Advertisements
Advertisements