Advertisement

Etihasik bhraman par jane hetu pita ji se anumati patra  विषय पर विभिन्न कक्षाओं के छात्रों के लिए यहाँ पर पत्र लेखन के उदाहरण दिये गए हैं। पत्र लेखन के इन उदाहरणों के आधार पर आप विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में भी पत्र लेखन कर सकते हैं।

ऐतिहासिक भ्रमण पर जाने हेतु पिताजी से अनुमति प्राप्त करने के लिए एक पत्र लिखिए। (11-12)

नवोदय विद्यालय
दादरी
दिनांक : 5-6-2021

आदरणीय पिता जी,
सादर चरण स्पर्श

मैं यहां कुशल पूर्वक हूं और आपकी कुशलता की आशा करता हूं। जैसा कि आपको पता ही होगा कि पिछले महीने मेरे विद्यालय में एक सर्वेक्षण करवाया गया था जिसमें यह निर्धारित किया गया कि बच्चों के शैक्षणिक विकास के लिए ऐतिहासिक इमारतों का, ऐतिहासिक स्थलों का भ्रमण करना अत्यंत आवश्यक है इसलिए विद्यालय की तरफ से कुछ चुने हुए बच्चों के दल बनाए गए हैं और मैं भी एक दल का सदस्य हूं। हमारे दल का रणथंभौर जाना तय हुआ है। रणथंभौर का किला दिल्ली मुंबई रेल मार्ग के सवाई माधोपुर रेलवे स्टेशन पर 13 किमी दूर स्थित है और यह रन और थम नाम की पहाड़ियों के बीच स्थित है। 12वीं शताब्दी से यह अस्तित्व में है। यहां पर रणथंबोर नेशनल पार्क स्थित है। यहां की इतिहासऔर संस्कृति की जानकारी ईकट्ठा करना ही इस शैक्षणिक टूर का उद्देश्य है।

Advertisement

आपको तो पता ही है कि मुझे ऐतिहासिक स्थलों के बारे में जानने की जिज्ञासा रहती है इसलिए इस भ्रमण पर जाने की अनुमति आप अवश्य दें देंगे।

भ्रमण से लौट आने पर मैं अवश्य आपसे मिलने आऊंगा। आपकी अनुमति की आशा में।

आपका पुत्र
रमेश

ऐतिहासिक भ्रमण पर जाने हेतु पिताजी की अनुमति हेतु पत्र। कक्षा (9-10)

अमर नाथ छात्रावास
रांची,
दिनांक: 5-6-2021

पूज्य पिता जी
सादर चरण स्पर्श,

आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि आप वहां कुशल पूर्वक से होंगे। मैं भी यहां स्वस्थ और सानंद हूं। आपके पिछले पत्र से यह जानकारी मिली कि माताजी का स्वास्थ्य अच्छा नहीं है। अत्यंत खेद है कि मैं आ नहीं सका। आशा करता हूं कि माताजी अब पूर्ण स्वस्थ और सानंद होंगी।

Advertisement

पिताजी, मैं आपको यह बताना चाहता हूं कि मेरा एक सहपाठी है जो आगरा में रहता है। इधर मेरे विद्यालय में 1 हफ्ते की छुट्टी घोषित हुई है इसलिए मेरे मित्र की योजना थी कि मैं उसके साथ आगरा घूमूं और आगरा के इतिहास से परिचित होऊं।

आगरा शहर मुगल कालीन सल्तनत का अमूल्य धरोहर है। यहां के सभी ऐतिहासिक इमारतें मुगलकालीन शानो शौकत का बखान करते हैं।

यदि आपकी अनुमति हो तो मैं अपने मित्र के साथ आगरा घुम आऊं और वहां के इतिहास से परिचित होऊं।

आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि आपको मेरे वहां मेरे जाने से कोई आपत्ति नहीं होगी। आपकी अनुमति की प्रतीक्षा में।

माता जी को मेरा प्रणाम और बड़े भैया का सप्रेम नमस्कार कहना।

आपका प्रिय पुत्र
वरूण

ऐतिहासिक भ्रमण पर जाने की अनुमति हेतु आवेदन पत्र। कक्षा (6, 7, 8)

सरोजिनी छात्रावास
इलाहाबाद,
दिनांक: 5-6-2021

पूज्य पिताजी,
सादर चरण स्पर्श

मैं यहां कुशल से हूं और आपकी कुशलता की कामना करता हूं। आपको यह जानकर अति प्रसन्नता होगी कि इस बार मेरा सालाना इंतहान बहुत अच्छा हुआ है। आशा करता हूं कि इस बार मेरा परीक्षा परिणाम पहले से बेहतर होगा। यह पत्र मैंने आपको एक विशेष उद्देश्य से लिखा है। हमारे स्कूल की एक परंपरा है कि प्रत्येक शैक्षणिक सत्र की समाप्ति पर हम सभी छात्र एक शैक्षणिक भ्रमण पर जाते हैं। इस बार हमें विद्यालय की तरफ से दिल्ली दर्शन के लिए ले जाया जा रहा है। दिल्ली के इतिहास की जानकारी प्राप्त करना और यहां स्थित ऐतिहासिक इमारतों का महत्व जानना ही इस भ्रमण का मुख्य उद्देश्य है।

मुझे दिल्ली के इतिहास के बारे में जानने की जिज्ञासा बहुत दिनों से थी। अगर आपकी अनुमति हो तो मैं भी इस शैक्षणिक भ्रमण का हिस्सा बनना चाहता हूं। दोस्तों के साथ घूमने का अपना एक अलग ही मजा है।

माताजी को मेरा प्रणाम कहिएगा और छोटे भाई बहनों को ढेर सारा प्यार।

आपकी अनुमति की प्रतीक्षा में।

आपका पुत्र
रोहन

Patra lekhan in Hindi Class 6
Patra lekhan in Hindi Class 7
Patra lekhan in Hindi Class 8
Patra lekhan in Hindi Class 9
Patra lekhan in Hindi Class 10
Patra lekhan in Hindi Class 11
Patra lekhan in Hindi Class 12

पत्र लेखन के विषय (patra lekhan topics in Hindi), पत्र लेखन प्रारूप Patra Lekhan Formats, औपचारिक पत्र Aupcharik Patra, अनौपचारिक पत्र  Anaupcharik Patra आदि के बारे में विस्तार से जानकारी के लिए यह पोस्ट पढ़ें:

पत्र लेखन PATRA LEKHAN | LETTER WRITING IN HINDI for FULL MARKS

औपचारिक एवं अनौपचारिक पत्र लेखन के 100 से अधिक उदाहरण 

आशा है कि ऐतिहासिक भ्रमण पर जाने हेतु पिताजी से अनुमति के लिए पत्र विषय पर प्रस्तुत पत्र लेखन के उदाहरण आपके लिए उपयोगी सिद्ध होंगे। आप इन पत्रों में थोड़ी बहुत फेर-बदल कर मिलते जुलते विषयों पर पत्र लेखन के प्रश्न हल कर सकते हैं। इस पत्र लेखन से मिलते जुलते निम्न विषयों पर पत्र लेखन का अभ्यास आप कर सकते हैं जिनसे आपको परीक्षा में अच्छे अंक लाने में सहता मिलेगी जैसे – शैक्षिक भ्रमण पर जाने की अनुमति मांगते हुए पिताजी को पत्र लिखिए, पिकनिक पर जाने के लिए पिताजी से अनुमति पत्र, शैक्षिक भ्रमण पर जाने की अनुमति के लिए विद्यालय की प्रधानाचार्य को पत्र, पिकनिक पर जाने के लिए प्रार्थना-पत्र, ऐतिहासिक भ्रमण पर जाने के लिए प्रार्थना करते हुए अपने विद्यालय के प्राचार्य को पत्र लिखिए, अनुमति हेतु प्रार्थना पत्र, वनभोज के संबंध में पिता से अनुमति पत्र, भ्रमण के संबंध में मित्र को पत्र.

कृपया अपने सुझाव हमें अवश्य भेजें।

Hindi Patra Lekhan Topics

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here