Ghar ke bahar pairon ke nishan kyon banate hain | क्यों बनाने चाहिए घर के बाहर पैरों के निशान?

Ghar ke bahar pairon ke nishan kyon banate hain?

हिन्दू धर्म व संस्कृति में घर के बाहर रंगोली बनाना। घर के मुख्य द्वार पर विनायकजी बैठाना और घर के बाहर पैरों के छोटे छोटे कुंकुम के निशान बनाने को हमारे यहां शुभ शगुन माना जाता है। इसीलिए लोग सिर्फ दीपावली के समय विशेष रूप से हल्दी कुंकुम के पैर बनाते हैं। लेकिन यदि घर के बाहर कुंकुम के छोटे छोट पैर बारह महीने बने रहें तो इसके भी अनेक लाभ हैं।

pairon ke nishanशास्त्रों में माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के कई उपाय बताए गए हैं। इनमें से एक है – देवी के पैरों के निशान मुख्य द्वार के यहां जमीन पर बनाना।

मुख्य द्वार के नीचे बाहर की ओर देवी लक्ष्मी के चरणों के चिन्ह लाल रंग से बनाए जाते हैं। इसे सभी देवी देवताओं की शुभ दृष्टि हमारे घर-परिवार पर सदैव बनी रहती हैं।

ज्योतिष के अनुसार अशुभ ग्रहों का बुरा प्रभाव भी कम होता है। इसके अलावा हमारे घर पर किसी की बुरी नजर नहीं लगती है और नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है। सभी सदस्यों में पाजीटिव एनर्जी का संचार होता है।

इसीलिए घर के बाहर कुंकुम के पैर जरूर बनाना चाहिए।