कभी भी रोने लगती हे ये लड़की, आंसु के जगह गिरता है खून!

मेडिकल साइंस के दुनिया में डॉक्टर्स और वैज्ञानिकों को आये दिन ऐसी-ऐसी समस्याओं से जूझना पड़ता है जो असामान्य है. कई बार तो डॉक्टर्स की टीम मर्ज का इलाज खोजने में कामयाब होती है. लेकिन कई बार कामयाबी हाथ नहीं लगती.

पूरी दुनिया में ऐसे कई सरे लोग हैं जो असामान्य बिमारियों से पीड़ित हैं और लगातार चिकित्सकों कि निगरानी में हैं. ऐसी ही मरीजों की सूची में लखनऊ की रहने वाली ट्विंकल भी शामिल है.

ट्विंकल महज 13 वर्षीय बच्ची है. बच्ची के आँखों से आंसू के जगह खून बहता है. लेकिन ऐसा जरुरी नहीं कि ये खून के आंसू तभी निकले जब ट्विंकल दुखी हो. उसके आँखों से खून का बहाव कभी भी शुरू हो जाता है. गौरतलब है कि ये बीमारी उसे महज 2 वर्षों से है. ट्विंकल बचपन से बिलकुल सामान्य थी. हालाँकि ट्विंकल का इलाज लगातार जारी है लेकिन बावजूद इसके उसकी स्थिति में कोई सुधार नहीं है.

अमेरिका के जानेमाने पेडीएट्रिक हेमेटोलोजिस्ट डॉ जॉर्ज बुचैन कहते है कि यह परेशानी खून में प्लेटलेट्स के कारण हो रही है. इस इस्थिति में खून के थक्के बनते हैं और शारीर के किसी भी अंग से खून का रिसाव होने लगता है. इस बीमारी के कारण ट्विंकल के आँखों से कभी भी खून बहने लगता है. कुछ डॉक्टर्स के मुताबिक ट्विंकल ‘सिग्मा’ नाम की बीमारी से पीड़ित है. इस बीमारी में मरीज के शारीर के अंगों से कभी भी रिसाव शुरू हो जाता है. इस बीमारी से पडित होने के कारण ट्विंकल पिछले 2 साल से स्कूल भी नहीं सकी है. कुछ लोग तो ट्विंकल कि तुलना जीसस क्राइस्ट से भी करते हैं.

मालूम हो कि ऐसी ही अजीबो-गरीब बीमारी से पीड़ित दुनिया की सबसे वजनी महिला इन दिनों मुंबई में अपने इलाज के लिए मौजूद है. ये महिला मिस्र की रहने वाली है. 36 वर्षीया एमन अहमद अपना वजन घटाने के इलाज के लिए 11 फ़रवरी को मुंबई आई हैं. उन्हे हवाई जहाज के जरिये मुंबई लाया गया है. डॉक्टरों के अनुसार एमन को सर्जरी से पहले एक महीने तक डॉक्टरों के निगरानी में रखा जायेगा. एमन पिछले 25 वर्षों से घर से बाहर नही निकली थी.