Samvad Lekhan गृह कार्य में शिथिलता देखते हुए पिता और पुत्र के बीच संवाद – संवाद लेखन

Grah karya mein shithilta dekhte hue pita aur putra ke bich samvad –samvad lekhan

पिता – क्या कर रहे हो? गौरव!

गौरव – कुछ नहीं पिताजी! मैं कार्टून देख रहा हूं|

पिताजी – तुम्हारी माताजी ने बताया, तुम्हारी कक्षा अध्यापिका ने गृह कार्य से संबंधित शिकायत की है| तुम अपना गृह कार्य, समय से पूरा नहीं कर रहे हो|

गौरव –पिताजी! पिछले हफ्ते, में स्कूल नहीं गया था| जिस कारण मेरा गृह कार्य पूरा नहीं हो सका|

पिताजी –लेकिन, बेटा! तुम एक हफ्ते से स्कूल जा रहे हो| इस 1 सप्ताह में,गृह कार्य पूरा कर लेना चाहिए था|

गौरव –पिताजी! मुझे कार्य पूरा करने का समय नहीं मिला|

पिता – कार्टून देख कर,समय बर्बाद करते रहोगे तो तुम्हें समय नहीं मिलेगा| यह तुम्हारी जिम्मेदारी है कि खेलने का समय, टीवी देखने का समय और अपनी पढ़ाई का समय निश्चित करो|

गौरव –जीपिताजी! मैं आपसे वादा करता हूंकि मैं,दो दिन में गृह कार्य पूरा कर लूंगा|

[display-posts category_id=”2952″  wrapper=”div”
wrapper_class=”my-grid-layout”  posts_per_page=”10″]

यह संवाद लेखन विद्यार्थियों के लिए निम्न विषयों पर उपयोगी होगा – Samvad Lekhan, samvad lekhan meaning, samvad lekhan in hindi for class 8, samvad lekhan meaning in english, samvad lekhan in hindi for class 7, samvad lekhan format class 9, samvad lekhan marathi, shunya kachra samvad lekhan, 5 samvad lekhan, samvad lekhan in hindi for class 6, samvad lekhan in hindi for class 5, samvad lekhan in hindi for class 10

निम्न विषयों पर भी संवाद लेखन का अभ्यास करें:

परीक्षा के एक दिन पूर्व दो मित्रों की बातचीत का संवाद लेखन कीजिए।
संवाद लेखन के समय ध्यान देने योग्य दो बातें लिखिए।