पश्चिम बंगाल के बीरभूम में हनुमान जयंती का जुलूस पर पुलिस ने लाठी चार्ज किया| आज सुबह से ही बीरभूम में तनाव का माहौल बना हुआ है| जय श्रीराम के नारो के बीच जब हनुमान जयंती का जुलूस निकला गया| तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया| पुलिस ने जुलूस की अनुमति नहीं होने का दावा किया|

हनुमान जयंती की नहीं दी थी अनुमति

हनुमान जयंती के जुलूस की तैयारी पूरी कर ली थी| इसका अगुवाई बीजेपी के राज्याध्यक्ष दिलीप घोष करने वाले थे| परन्तु अनुमति नहीं मिलने के कारन वो नहीं आ सके| परन्तु हिन्दू जागरण मंच के कार्यकर्ताओ ने जुलूस को निकाला| जैसे ही जुलूस सूरी बस स्टैंड के पास पंहुचा| पुलिस ने उन्हें रोक दिया| कार्यकर्ताओ और पुलिस में बहस शुरू हो गई| जो देखते ही देखते हाथापाई तक पहुंच गई| पुलिस ने तुरंत लाठी चार्ज के आदेश दे दिए| गुस्साए कार्यकर्ताओ को काबू में लेन के लिए पुलिस ने बल का प्रयोग किया|

हनुमान जयंती के जुलूस पर हुआ लाठीचार्ज

झड़प होने के बाद इलाके में रेपिड एक्शन फ़ोर्स को तैनात कर दिया गया है| पुलिस का कहना है उन्होंने लगभग 10 कार्यकर्ताओ को हिरासत में ले लिया है| पुलिस के अनुसार उस जगह किसी भी प्रकार के जुलूस की अनुमति नहीं थी| परन्तु भाजपा कार्यकर्ताओ का कहना है कि उन्हें अनुमति मिल गई थी| इसके बाद ही उन्होंने जुकुस निकाला|

ज्ञात हो पीछे रामनवमी में भी जुलूस निकालने के ऊपर काफी हलचल हुई थी| जिसके बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हिन्दू संगठनों के निशाने पर आ गई है| उनके अनुसार ममता बनर्जी राज्य को इस्लामिक कर रही है| वहां पर हिन्दू त्योहारों की उपेक्षा की जा रही है| काफी समय से राज्य में हिन्दू त्योहारों को मानाने की अनुमति नहीं मिलती| अगर भक्त जुलूस आदि निकालते है तो पुलिस कार्यवाही की जाती है| आज की घटना से राज्य में अशांति का माहौल उत्पन्न हो रहा है|

हिंदी वार्ता से जुडें फेसबुक पर-अभी लाइक करें

 
Pankaj Sharma
देश की राजनीति से जुडी ख़बरों पर कड़ी नजर रखते हैं. फिल्में देखने का है शौक. नयी जगहों पर घूमना अत्याधिक पसंद