हनुमान प्रतिमा के सिंदूर का टीका क्यों माना जाता है चमत्कारी?

Hanuman ji ko sindoor ka tika kyon lagate hain?

सभी माता पिता अपने बच्चों को अच्छी परवरिश देना चाहते हैं। अपने बच्चों की सभी इच्छाएं पूरी करना चाहते हैं, ऐसे में कई बार बच्चे जिद्दी भी हो जाते हैं। जैसे जैसे बच्चे बड़े होते जाते हैं, उनकी जिद भी बढ़ती जाती है जो कई परेशानियों का कारण भी बन सकती हैं। वैसे इससे बचने के लिए कई उपाय बताए जाते हैं, लेकिन शास्त्रों के अनुसार भी एक सटीक उपाय बताया गया है।
अगर कोई बच्चा ज्यादा जिद्दी हो, चिडचिडा हो, क्रोध अधिक करता हो, माता पिता या अन्य बड़े लोगों की बातें नहीं सुनता हो, जमीन पर लौट लगाता हो तो उसको हनुमान जी के बांए पैर का सिंदूर हर मंगलवार और शनिवार को लगाएं। सिंदूर मस्तक या माथे पर लगाएं।
ऐसा माना जाता है कि हनुमान जी के बाएं पैर का सिंदूर माथे पर लगाने से सद्बुद्धि प्राप्त होती है। हुनमान जी को बल और बुद्धि का देवता माना जाता है, इसी वजह से यह उपाय अपनाने वाले लोगों काफी लाभ प्राप्त होता है। जो लोग अधिक जिद करते हैं या गुस्सा करते हैं उनके लिए यह उपाय काफी फायदेमंद को है। इससे उनका क्रोध तो कम होगा ही पुण्य लाभ भी प्राप्त होगा।